सीएम के जिले में अधिकारियों ने खोली 60 साल पुरानी फाइल, जानिए क्या है मामला

सीएम के जिले में अधिकारियों ने खोली 60 साल पुरानी फाइल, जानिए क्या है मामला
Meeting to declare reserved forest

Prabha Shankar Giri | Publish: Jul, 19 2019 09:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

राजस्व और वन अधिकारियों के बीच 170 ब्लॉक के नोटिफिकेशन पर बनी सहमति

छिंदवाड़ा.मौजूदा जंगल के कुछ क्षेत्र को आरक्षित वन घोषित करने के लिए राजस्व एवं वन अधिकारियों को बुधवार को 60 साल पुरानी फाइलें खोलनी पड़ी। इस पर जिले के 170 ब्लॉक के जंगल को आरक्षित वन मानते हुए इसका नोटिफिकेशन राजपत्र में करने पर सहमति बनी। शेष 280 ब्लॉक में एसडीएम दावे-आपत्तियां सुनकर स्थिति साफ करेंगे।
वन विभाग के सूत्रों के मुताबिक वर्ष 1970-72 के समय जिले के 450 ब्लॉक में मौजूदा जंगल को वन विभाग के अधीन नहीं रखा गया था। इन जंगलों का लाभ ग्रामीण आबादी उठा रही थी। राज्य शासन के विशेष निर्देश पर इन जंगल क्षेत्र को वन व्यवस्थापन के अंतर्गत लिया गया। इनमें से 170 ब्लॉक पर ग्रामीणों की दावे-आपत्तियां बुलाकर निराकरण किया गया।
अब इन जंगलों को राजस्व से वन विभाग के सुपुर्द देकर आरक्षित वन घोषित करना है। बुधवार को कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा की अध्यक्षता में हुई वन एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों की बैठक में इन ब्लॉक को मप्र राजपत्र में नोटिफिकेशन के लिए पहुंचाने की चर्चा हुई और इस पर निर्णय लिया गया। शेष 280 ब्लॉक में ग्रामीणों के आपत्ति-दावों को सुना जाना है। इस पर कलेक्टर ने एसडीएम को जिम्मेदारी सौंपी। इसके बाद इन ब्लॉक को भी आरक्षित वन के रूप में नोटिफाइड करने की कार्रवाई हो सकेगी।
बैठक में एसडीएम के अलावा डीएफओ एसएस उद्दे, डॉ.किरण बिसेन और आलोक पाठक
उपस्थित हुए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned