मिशन-1000 के स्कूलों का देखा रिजल्ट...अधिकारी हुए खफा, जानें वजह

- समीक्षा बैठक में जेडी ने कार्रवाई के दिए निर्देश

By: Dinesh Sahu

Published: 01 Aug 2020, 03:27 PM IST

छिंदवाड़ा/ माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा घोषित कक्षा बारहवीं के रिजल्ट के संदर्भ में स्कूल शिक्षा विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर जबलपुर संभाग ने शुक्रवार को समीक्षा की, जिसमें पिछले वर्ष की तुलना में इस बार कम वार्षिक परीक्षा परिणाम देने में नाराजगी जाहिर की। साथ ही ऐसे 30 प्रतिशत से कम रिजल्ट देने वालों प्राचार्यों और विषय शिक्षकों के खिलाफ भी कार्रवाई के लिए मसौदा तैयार करने के निर्देश दिए है।

बताया जाता है कि मिशन-1000 में चयनित स्कूलों के भी रिजल्ट गिरने से जेडी राजेश तिवारी काफी नाराज हुए है। जिला शिक्षा अधिकारी अरविंद्र चौरगड़े ने बताया कि मिशन-1000 अंतर्गत जिले में 48 स्कूल शामिल है, जिनमें से करीब 25 स्कूलों का वार्षिक परीक्षा परिणाम पिछले वर्ष की अपेक्षा कम हुआ है। इसी वजह से ज्वाइंट डायरेक्टर ने नाराजगी जाहिर की है।


मिलती है कई सुविधाएं -


बेहतर शिक्षण व्यवस्थाएं, शतप्रतिशत शिक्षकों की पदस्थापना, आधुनिक संसाधनयुक्त समेत कई सुविधाओं की उपलब्धता शासन द्वारा मिशन-1000 में चयनित स्कूलों को मुहैया कराई गई है। साथ ही ऐसे स्कूलों के शिक्षकों को कई बार प्रशिक्षण देकर उन्नत शिक्षा देने के लिए तैयार भी किया गया है, जिस पर शासन ने लाखों रुपए खर्च किए है। इतना ही नहीं ऐसे स्कूलों का इंफ्रास्टे्रक्चर भी सुदृढ़ किया गया, फिर कमजोर रिजल्ट आना कई तरह के सवालों को जन्म देता है।

Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned