Model Act: ए ग्रेड की मंडी एक वर्ष से प्रभारी सचिव के हवाले

एक जुलाई 2020 से पदभार

By: prabha shankar

Updated: 12 Jul 2021, 11:38 AM IST

छिंदवाड़ा। कृषि उपज मंडी कुसमेली पिछले एक वर्ष से प्रभारी के भरोसे ही चल रही है। मंडी का दर्जा ए ग्रेड का है, इसके बावजूद एक जुलाई 2020 से मंडी के निरीक्षक शिवदयाल अहिरवार मंडी सचिव का पदभार सम्भाल रहे हैं। हालांकि उसके बाद से मंडी में पूरे साल चल रही आपाधापी से मंडी के कामकाज पर अधिक असर नहीं पड़ा, लेकिन चर्चाएं गर्म हैं कि नम्बर वन होने के बावजूद इस मंडी में कोई आने के लिए तैयार नहीं है या फिर खुद मंडी बोर्ड किसी की नियुक्ति नहीं करना चाहता। मंडी में इसके पहले सचिव पद पर जबलपुर से स्थानांतरित होकर आए तहसीलदार अशोक कुमार डेहरिया की प्रतिनियुक्ति की गई थी। उनके जाने के बाद मंडी सचिव कक्ष से हटी नेमप्लेट अब तक नहीं लग सकी है। प्रभारी सचिव फिलहाल सचिव के कक्ष क्रमांक दो में ही बैठकर काम काज सम्भाल रहे हैं। मंडी बोर्ड द्वारा पद दिए जाने के कारण वे सचिव पद के समस्त अधिकारों का निर्वहन कर रहे हैं।

मॉडल एक्ट भी बना कारण
विगत जून 2020 से लागू मॉडल एक्ट के कारण वैसे भी व्यापारियों को सिर्फ पैन कार्ड के आधार पर मंडी के बाहर ही खरीदी करने के अधिकार मिल चुके थे। मंडी का कार्यक्षेत्र मंडी परिसर के अंदर तक सीमित होने के कारण मंडी बाहर की खरीद पर हस्तक्षेप नहीं कर सकती थी। बताया जा रहा है कि कम आवक, होने के साथ अधिकारों में कमी भी कुसमेली मंडी वरिष्ठ अधिकारियों की अरुचि का कारण बन गई। फिलहाल मॉडल एक्ट पर रोक, मंडी शुल्क यथावत, एवं उडनदस्ते के गठन के बाद अब एक बार फिर से सचिव पद के लिए वरिष्ट अधिकारी का इंतजार हो रहा है।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned