भादो में मानसून मेहरबान, छलक उठे जलाशय

भाद्रपद में जोरदार वर्षा हुई और विकास खंड़ के कुल 23 में से 12 जलाशय लबालब हो कर छलक पड़े। बारिश से प्राकृतिक सौंदर्य भी निखर उठा है। 100 प्रतिशत भरने वाले जलाशयों में मोही, जुनेवानी, भाजीपानी, चागोबा, गुजरखेड़ी, हिवरासेनडवार, खैरीपेका, रिंगनखापा , सिवनी, उत्तमडेरा , सेंदुरजना और टेमनी शामिल है।

By: Rahul sharma

Updated: 13 Sep 2021, 11:31 AM IST

छिन्दवाड़ा/ पंढुर्ना. भाद्रपद में जोरदार वर्षा हुई और विकास खंड़ के कुल 23 में से 12 जलाशय लबालब हो कर छलक पड़े। बारिश से प्राकृतिक सौंदर्य भी निखर उठा है। 100 प्रतिशत भरने वाले जलाशयों में मोही, जुनेवानी, भाजीपानी, चागोबा, गुजरखेड़ी, हिवरासेनडवार, खैरीपेका, रिंगनखापा , सिवनी, उत्तमडेरा , सेंदुरजना और टेमनी शामिल है। इसी तरह बारिश होती रही तो अब तक 66 प्रतिशत भरे ढोलनखापा , मांडवी, मोरडोंगरी जलाशय भी लबालब हो जाएंगे। अभी राजडोंगरी और घुडऩखापा जलाशय आधे भरे हैं। सात जलाशयों की स्थिति चिंताजनक बनी रहेगी। इनमें डोलनाला 2 प्रतिशत, पेंढोनी 6 प्रतिशत, मोहखेड़ी 20 प्रतिशत, जाटलापुर 16 प्रतिशत, जामलापानी 14.68 प्रतिशत, बिछुआसाहनी 13 प्रतिशत , भंदारगोंदी जलाशय 12 प्रतिशत ही भरा है। शहर को पेयजल के लिए बनाया गया जुनेवानी जलाशय शुक्रवार को तेज बारिश के बाद रात को छलक उठा। इस वजह से लेंढोरी मार्ग पर दोनों ओर जाम लग गया । साप्ताहिक बाजार से गांव की ओर लौट रहे वाहनों की आवाजाही थम गयी । काफी समय बाद पानी का स्तर कम होने पर आवागमन शुरु हो सका।

Rahul sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned