Monsoon: आफत की बारिश, 36 साल का टूटा रेकॉर्ड

वर्ष 1984 के अगस्त में हुई थी ऐसी तबाही, भू-अभिलेख के दस्तावेज में दूसरी बार दिखा पानी का जलजला

By: prabha shankar

Updated: 30 Aug 2020, 05:14 PM IST

छिंदवाड़ा/ एक दिन में दस इंच बारिश से 36 साल पुराना रेकॉर्ड टूट गया। पानी का ऐसा जलजला और मकान तथा फसल की तबाही वर्ष 1984 में दिखाई दी थी। उसके बाद 2020 के अगस्त के इन अंतिम दिनों में जिलेवासियों ने इसे अनुभव किया। कलेक्ट्रेट स्थित भू-अभिलेख के पुराने रिकॉर्ड में इसका विवरण मिला है। प्रशासन ने इस रिकॉर्ड को मौसम विभाग समेत राज्य शासन को भी भेजा है।
बीते 24 घंटे की बारिश का औसत दस इंच (250.6 मिमी) शनिवार की सुबह आठ बजे आया और जिले का अब तक का कुल औसत 1106 मिमी हो गया। यह बारिश जिले की सामान्य बारिश 1059 मिमी से आगे हो गई है। भू-अभिलेख शाखा के अधिकारी-कर्मचारी बताते हैं कि बारिश का रौद्र रूप वर्ष 1984 के बाद पहली बार नजर आया। तब के अगस्त में पानी का जलजला इतना था कि खेतों में पानी भर जाने से खरीफ फसलों को व्यापक नुकसान हुआ था और कई मकानों और गांवों में पानी भर गया था। यह जरूर था कि उस समय माचागोरा डैम बना नहीं था। इसके चलते चौरई में पेंच नदी के निचले इलाकों में गांवों में पानी भरने की खबर नहीं थी। वर्ष 2020 की इस आफत की बारिश में माचागोरा डैम के पानी का नुकसान जुड़ा वहीं शहरी और ग्रामीण इलाकों में जगह-जगह मकान ध्वस्त हो गए। फिलहाल बारिश का रेकॉर्ड टूटने से वर्ष 1984 की याद आ गई है।

सितम्बर तक चला सिलसिला तो 13 सौ पार
इस अगस्त में ही बारिश का औसत 11 सौ पार हो गया है। सिलसिला 30 सितम्बर तक जारी रहा तो यह औसत 13 सौ से अधिक हो सकता है। फिलहाल मौसम विभाग ने छिंदवाड़ा को रेड अलर्ट में रखकर लगातार यहीं मौसम रहने के संकेत दिए हैं।
माचागोरा डैम के चार गेट बंद, 624 मीटर से कम आया लेवल

माचागोरा डैम के चार गेट बंद कर दिए और केवल चार गेट से ही 500 क्यूमेक पानी प्रति सेकण्ड निचले इलाकों में रिलीज किया गया। एक दिन पहले डैम के आठों गेट खोल दिए गए थे। फिलहाल डैम का लेवल 623.85 मीटर का बना हुआ है। शुक्रवार को अधिक बारिश से यह 624.95 मीटर पर पहुंच गया था।

सिवनी, नागपुर, परासिया और अमरवाड़ा मार्ग खुले
बारिश कम होने से पुल-पुलियों में पानी का स्तर कम होने से सिवनी, नागपुर, परासिया और अमरवाड़ा मार्ग खुल गए। इससे आवागमन भी चालू होने से वाहन चालकों ने राहत की सांस ली। एक दिन पहले सिवनी रोड में झिलमिली का पेंच नदी का पुल तो परासिया रोड में गांगीवाड़ा के आगे टोल प्लाजा की पुलिया तथा अमरवाड़ा रोड पर सिंगोड़ी के पुल पर पानी चढ़ गया था। इसके साथ ही नागपुर रोड पर गहरानाला पुल भी जाम हो गया था

Show More
prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned