स्कूलों में 1200 से अधिक पद रिक्त ...आ रही दिक्कतें, पढ़ें पूरी खबर

- प्रभारी सम्भाल रहे शासकीय स्कूलों की व्यवस्थाएं

By: Dinesh Sahu

Published: 27 Jan 2021, 11:32 AM IST

छिंदवाड़ा/ जिले में शिक्षा विभाग अंतर्गत संचालित शासकीय हाई तथा हायर सेकंडरी स्कूलों की जिम्मेदारी प्रभारी प्राचार्यों के भरोसे है। इतना ही नहीं कुल स्वीकृत पदों में 1200 से अधिक रिक्त है, जिसमें हाई-हायर सेकंडरी प्राचार्यों और व्याख्याता व उच्च माध्यमिक शिक्षक भी शामिल हैं। इसकी वजह से स्कूलों में शैक्षिक कार्यों समेत अन्य विभागीय कार्य प्रभावित हो रहे है।

बताया जाता है कि लम्बे समय से स्कूल प्रभारी शिक्षक ही संचालित कर रहे है। स्कूलों में शिक्षकों की कमी होने से अतिथि शिक्षकों की मदद ली जाती है। मामले में जिला शिक्षा अधिकारी अरविंद चौरगड़े ने बताया कि शिक्षकों के प्रमोशन पर रोक लगने और शासन के निर्देशों की वजह से उक्त स्थिति बनी हुई है।

जिले में हर वर्ष प्राचार्य सेवानिवृत्त, स्थानांतरित और किसी वजह से मर जा रहे है, पर उनके स्थान पर किसी की नियुक्ति नहीं होने से मजबूरी में संस्था के वरिष्ठ शिक्षकों को प्रभार सौंपा जाता हैं।


यह हैं जिले की स्थिति -


विवरण स्वीकृत कार्यरत रिक्त


1. उमावि प्राचार्य 133 71 62
2. हाईस्कूल प्राचार्य 107 31 76
3. व्याख्याता 168 44 124
4. उच्च माध्यमिक शिक्षक 1568 541 1027


यह आती है समस्याएं -


1. विभागीय कर्मचारियों में नियंत्रण नहीं हो पाता है।


2. प्रभारी प्राचार्य किसी प्रकार का निर्णय नहीं ले पाते है।


3. किसी वजह से जूनियर को प्रभार मिल जाए तो तनाव की स्थिति बन जाती है।


4. शैक्षिक व्यवस्थाएं पूरी तरह ठप हो जाती है।


5. आर्थिक अनियमितता के प्रकरण भी बढऩे लगते है।


6. क्रय-विक्रय का अधिकार नहीं होने से संस्था का विकास प्रभावित होता है।


7. प्रशासनिक गतिविधियां समय पर पूरी नहीं हो पाती है।

Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned