दिल दहला देने वाली वारदात: मां और नाबालिग बेटी की निर्मम हत्या

दिल दहला देने वाली वारदात: मां और नाबालिग बेटी की निर्मम हत्या
Mother and minor daughter murdered

Prabha Shankar Giri | Updated: 17 Aug 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

बाद में आरोपी ने कर ली खुदकुशी

छिंदवाड़ा. कोतवाली थाना क्षेत्र के पुराना पावर हाउस निवासी सरिता (45) पति राजेश सोनी एवं खुशी (16) पिता राजेश सोनी की पड़ोस में रहने वाले बंटी उर्फ शुभम राजस ने चाकू से गोदकर हत्या कर दी। वारदात पंद्रह अगस्त की रात करीब 12 बजे की बताई जा रही है। वारदात को अंजाम देने के बाद शुभम राजस ने भी छोटा तालाब कुंड में कूदकर जान दे दी। पुलिस ने हत्या सहित अन्य धारा में प्रकरण दर्ज कर मामले को जांच में रखा है।
टीआइ विनोद कुशवाह ने बताया कि पुराना पावर हाउस निवासी राजेश सोनी जनरेटर मैकेनिक का काम करता है। पंद्रह अगस्त की रात करीब नौ बजे वह छोटे बेटे हर्ष के साथ रामायण पाठ में शामिल होने के लिए खिरका मोहल्ला गए थे। घर में पत्नी सरिता एवं बेटी खुशी थी। घर के आंगन में लगे गेट पर अंदर से ताला लगा लिया था। रात करीब 11.30 सुरेन्द्र शर्मा खिरका मोहल्ला रामायण पाठ स्थल पर पहुंचा और राजेश को बताया कि बंटी उर्फ शुभम राजस ने तुम्हारी पत्नी और बेटी को चाकू मार दिया है। पड़ोस के लोग उन्हें जिला अस्पताल लेकर गए हैं। बेटे को किसी तरह साथ लेकर राजेश अस्पताल पहुंचा तो पता कि दोनों ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया है। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी शुभम ने छोटा तालाब के कुंड में छलांग लगा दी। सूचना के बाद पुलिस आरोपित के घर पहुंची तो वहां कोई हाथ नहीं लगा।

पीछे से कूदकर घुसा था आरोपी
पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि आरोपित चाकू लेकर पीछे से कूदा था। घर में केवल मां और बेटी के होने की भी आरोपित को पहले से सूचना थी, जिसका उसने फायदा उठाया। आरोपित का शव गोताखोरों की मदद से निकाला गया। पीएम के बाद उसका शव भी परिजन को सौंप दिया है। मां-बेटी के शव का पीएम के बाद परिजन को सौंपा गया। राजेश सोनी ने पत्नी सरिता को मुखग्नि दी। वहीं मासूम हर्ष ने अपनी बहन को आग दी है। एक परिवार से दो अर्थी एक साथ उठने के बाद से पूरे मोहल्ले में मातम का माहौल बना हुआ है।

नाबालिग को करता था परेशान
आरोपी बंटी उर्फ शुभम राजस 16 वर्षीय नाबालिग खुशी को परेशान करता था। खुशी इसका विरोध करती थी और उसने कई बार इसकी लिखित शिकायत कोतवाली थाना में दी थी। आरोप है कि पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद करीब दो बार दोनों पक्ष में समझौता करा दिया था। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि उस वक्त पुलिस अगर सख्त कार्रवाई करती तो शायद आज इतनी बड़ी वारदात नहीं होती। समझौता होने के बाद भी आरोपी शुभम ने खुशी को परेशान करना नहीं छोड़ा था।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned