MP election news : कैसा आदर्श गांव, यहां न पीने को पानी है, न इलाज की बेहतर सुविधाएं

MP election news : कैसा आदर्श गांव, यहां न पीने को पानी है, न इलाज की बेहतर सुविधाएं

Mantosh Kumar Singh | Publish: Nov, 02 2018 08:03:03 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

कमलनाथ के आदर्श गांव बीसापुरकलां की ग्राउंड रिपोर्ट

मंतोष कुमार सिंह
सौंसर विधानसभा क्षेत्र की बीसापुरकलां ग्राम पंचायत को कांगे्रस सांसद कमलनाथ ने आदर्श गांव बनाने के लिए गोद लिया था। इसके बाद गांव में सडक़ों का निर्माण हुआ। बिजली की व्यवस्था की गई। शैक्षणिक व्यवस्थाओं में सुधार हुआ, लेकिन यहां की आबादी पेयजल और स्वास्थ्य सेवाओं की कमी से जूझ रही है।

 

MP  <a href=election 2018 news Chhindwara" src="">

गांव के यात्री प्रतीक्षालय में लोग चाय की चुस्की ले रहे हैं। सरपंच महेश बनवारी ने कहा, कमलनाथ ने सीसी रोड, स्वागत द्वार, कला मंच, दो रंगमंच, आंगनबाड़ी, सामुदायिक भवन आदि विकास कार्य कराए हैं, लेकिन पानी आज भी सबसे बड़ी समस्या है। इसका समाधान भाजपा विधायक नानाभाऊ मोहोड़ ने भी नहीं किया। फिर कैसा आदर्श गांव। सप्ताह में एक दिन कुएं से पानी की सप्लाई हो रही है। कुएं का पानी भी जनवरी तक खत्म हो जाएगा। उसके बाद 500 से 700 रुपए तक खर्च कर टैंकर से पानी खरीदना पड़ेगा।

MP election 2018 news Chhindwara

श्रीपाल बुनकर बोले, यहां रोजगार नहीं है। मक्का की तुड़ाई कर जैसे-तैसे घर का खर्चा चल रहा है। गांव में काम नहीं मिलने के कारण इधर-उधर जाना पड़ता है। मनरेगा में भी कई माह से काम नहीं मिल रहा है। यहां कोई ऐसा उद्योग लगना चाहिए, जिससे लोगों को काम मिल सके।

MP election 2018 news Chhindwara

सिनोद बंशकार बोले, इलाज के लिए आयुर्वेद औषधालय हैं, लेकिन इसमें सभी रोगों का इलाज नहीं हो पाता। इलाज कराने लिंगा या छिंदवाड़ा जाना पड़ता है। उप स्वास्थ्य केंद्र में भी सुविधाएं नहीं हैं। दो साल पहले तक यहां प्रसव की सुविधा थी, लेकिन अब नहीं है। डिलेवरी कक्ष में ताला डला रहता है। दोपहर का वक्त है। मुख्य बाजार में पानी की सप्लाई हो रही है। सडक़ के दोनों किनारों पर दर्जनों मोटर लगाकर लोग पानी खींच रहे हैं। वे बोले, प्रेशर इतना कम है कि टंकी नहीं भर पाती। मोटर से खींचकर सप्ताहभर के लिए पानी स्टोर कर लेते हैं।

MP election 2018 news Chhindwara

एक पान की दुकान पर दर्जनभर लोग चर्चा में मशगूल हैं। दिलीप चरपे, संजय मालवीय और साबिर मंसूरी की पीड़ा जुबां पर आ गई। सडक़ का निर्माण हुआ, लेकिन नाली नहीं बनी। अब घरों का गंदा पानी सडक़ और मुख्य बाजार में बह रहा है। सफाई के इंतजाम भी नहीं हैं। सप्ताह में एक दिन एक सफाईकर्मी आता है। बाकी समय कचरा चारों तरफ फैला रहता है। दिलीप बोले, गांव के चारों तरफमाचागोरा बांध की नहर बन रही है, लेकिन बीसापुरकलां को छोड़ दिया गया है, जबकि सबसे ज्यादा पानी की समस्या यहीं है। नहर को बीसापुरकलां तक लाना चाहिए। पानी के लिए डैम भी बनाना चाहिए।

MP election 2018 news Chhindwara

परिसीमन ने बढ़ाई दूरी
बीसापुरकलां सौंसर विधानसभा क्षेत्र में आता है। यहां भाजपा से नानाभाऊ मोहोड़ विधायक हैं। परिसीमन से पहले बीसापुरकलां छिंदवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में था, लेकिन परिसीमन ने छिंदवाड़ा के पास होने के बावजूद बीसापुरकलां को दूर कर दिया। छिंदवाड़ा से बीसापुरकलां 15 किलोमीटर, जबकि सौंसर विधानसभा मुख्यालय से 50 किलोमीटर दूर है। बीसापुरकलां गांव छिंदवाड़ा लोकसभा में आता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned