MP: सांसद नकुल नाथ ने छिंदवाड़ा को दी कोरोना अस्पताल की सौगात

अपने गृह जिले की जनता के हर सुख दुख में शामिल होकर उनका ध्यान रखना और उनसे कमल नाथ का आत्मीय लगाव किसी से छिपा नहीं है।

By: babanrao pathe

Published: 10 Apr 2021, 06:15 PM IST

छिंदवाड़ा. अपने गृह जिले की जनता के हर सुख दुख में शामिल होकर उनका ध्यान रखना और उनसे कमल नाथ का आत्मीय लगाव किसी से छिपा नहीं है। महासंकट की इस घटी में मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ और छिंदवाड़ा सांसद नकुल नाथ ने जनता को जीवनदायनी और बड़ी राहत देने वाली सौगात दी है।

आम लोगों के इलाज के लिए कमल नाथ व्यापक स्तर पर व्यवस्थाएं करते चले आ रहे हैं। छिंदवाड़ा, नागपुर, भोपाल जैसे शहरों में इलाज कराने की बात हो या दवाइयों की व्यवस्था करना। कमल नाथ कभी पीछे नहीं हटे। अपने पिता और पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के नक्शे कदम पर ही चलते हुए छिंदवाड़ा के युवा सांसद नकुल नाथ ने छिंदवाड़ा जिले को एक विशेष कोरोना अस्पताल की सौगात दी है, जो अपने आप में बहुत ही अहम है, क्योंकि सांसद ने इस कोरोना अस्पताल के लिए किसी शासकीय राशि का उपयोग नहीं किया है। लगातार क्षेत्रीय विधायकों और जनप्रतिनिधियों से जानकारी ले रहे थे और कुछ दिन पहले ही उन्हें अंदाजा हो गया था कि स्थिति बिगडऩे वाली है, पिछले माह हुई दिशा समिति की बैठक में भी उन्होंने प्रशासन को इस बारे में आगाह किया था, इसी अंदेशे के कारण उन्होंने समय के पहले ही अमरावती की संस्था सरस्वती हरवानी चेरिटेबल ट्रस्ट के प्रमुख डॉ. अरुण हरवानी से सम्पर्क किया। नागपुर और मुंबई की तरह एक विशेष कोरोना अस्पताल छिंदवाड़ा की जनता के लिए तैयार करने का निर्णय लिया। इस संस्था द्वारा पहले से 105 बिस्तर का विशेष कोरोना अस्पताल अमरावती में संचालित है। जिले में शासकीय अस्पताल में ही कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा था, इसके अलावा निजी अस्पतालों में भी इलाज आसानी से नहीं मिल पा रहा था। क्षेत्रीय जनता को इलाज में तकलीफ आ रही थी, और विशेष स्थितियों में भोपाल और नागपुर की ओर देखना पड़ रहा था, लेकिन अब रानी कोठी में नया स्पेशल कोविड हॉस्पिटल बन जाने से इन सभी समस्याओं से निजात मिलेगी।

यह होगी व्यवस्थाएं
रानी कोठी में जो अस्थाई कोविड हॉस्पिटल बन रहा है, उसमें आईसीयू बेड, बाइपेप यूनिट और वेंटीलेटर की व्यवस्था रहेगी। गम्भीर रोगियों का इलाज किया जाएगा। सामान्य रोगियों के लिए पृथक वार्ड की व्यवस्था की जा रही है। वर्तमान में 65 बिस्तर की कैपेसिटी के साथ अस्पताल तैयार किया जा रहा। आवश्यकता पडऩे पर इसे बढ़ाकर 100 बेड तक किया जा सकता है। अस्थाई कोविड अस्पताल में विशेषज्ञ, चिकित्सक तथा वे सारे संसाधन उपलब्ध होंगे जो कोरोना का इलाज करने में आवश्यक है। अस्पताल में न्यूनतम शुल्क पर समस्त प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इलाज की व्यवस्था की जा रही है। सांसद नकुल नाथ, क्षेत्रीय विधायक तथा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अस्पताल की व्यवस्था की लगातार मॉनिटरिंग करेंगे।

इंजेक्शन और ऑक्सीजन की नहीं होगी कमी
सांसद नकुल नाथ ने पूर्व में ही लगभग 318 रेमडेसिविर इंजेक्शन अपने खर्चे पर जनता को उपलब्ध करा चुके हैं। आने वाले समय में कोरोना के ईलाज में लगने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन और सभी दवाइयों की व्यापक स्तर पर व्यवस्था बनाने में सांसद अपने स्तर पर जुटे हुए हैं। ऑक्सीजन की कमी की खबरें पूरे प्रदेश से लगातार आने के कारण पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ और सांसद नकुल नाथ ने अपने व्यक्तिग सम्बंधों के आधार पर ऑक्सीजन उत्पादन करने वाले प्लांट के मालिक से सीधी बात की और कलेक्टर छिंदवाड़ा से भी बात करवाई। छिंदवाड़ा में ऑक्सीजन सप्लाई में कोई कमी नहीं होने दी जाएगी।

Show More
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned