scriptMP's orange is liked by the country | पतले छिलके के मीठे संतरे ने नागपुर को पीछे छोड़ा, अब देशभर को भा रहा एमपी का यह संतरा | Patrika News

पतले छिलके के मीठे संतरे ने नागपुर को पीछे छोड़ा, अब देशभर को भा रहा एमपी का यह संतरा

संतरे में गजब की मिठास

 

छिंदवाड़ा

Published: March 05, 2022 10:08:25 am

छिंदवाड़ा। सालों से देशभर में महाराष्ट्र के नागपुर के संतरे की धूम रही है. यहां संतरे का ऐसा उत्पादन होता है कि नागपुर की पहचान ही आरेंज सिटी के रूप में हो गई. हालांकि अब लोगों को मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के मीठे संतरे लुभाने लगे हैं. धीरे—धीरे नागपुर पीछे छूटता जा रहा है और छिंदवाड़ा का यह संतरा नया ब्रांड बन गया है. वैसे भी 'नागपुरी संतरा" की पहचान स्थापित करने में छिंदवाड़ा के संतरा उत्पादक किसानों का ही अह्म योगदान रहा है. इन किसानों की मेहनत को अब नई पहचान देकर छिंदवाड़ा के संतरे को 'सतपुड़ा आरेंज" नाम दिया गया है. इतना ही नहीं, इसके लिए जिला प्रशासन लोगो भी तैयार करवा रहा है.

orange_mp.png

छिंदवाड़ा में संतरे का उत्पादन सालों से होता आ रहा है। जिले के संतरे ही छिंदवाड़ा से लगे नागपुर में बिकने जाते रहे और यह शहर संतरे की देश की प्रमुख मंडी बन गया. नागपुर में छिंदवाड़ा का करीब 65 फीसदी संतरा पहुंचता है. नागपुर मंडी से संतरे का कारोबार होने के कारण इसकी पहचान भी नागपुरी संतरे के नाम से स्थापित हो गई.

अब छिंदवाड़ा के संतरों को 'सतपुड़ा आरेंज" के नाम से बेचा जाएगा. जिला प्रशासन ने इसकी ब्रांडिंग, पैकेजिंग के साथ यहां के संतरों को बाजार में लाने की योजना बनायी है. स्थानीय संतरों की ब्रांडिंग के लिए लोगो के साथ ही क्यूआर कोड भी तैयार किया जा रहा है. इस कोड को स्कैन करते ही संतरे की पूरी जानकारी उपलब्ध हो जाएगी जिसमें कीमत भी शामिल है.

oranges.jpg

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा स्थानीय उत्पाद को बढ़ावा देने के उद्देश्य से एक जिला एक उत्पाद योजना शुरू की गई है. इसके तहत संतरे के लिए छिंदवाड़ा जिले का चयन किया गया हे. इसके बाद जिले के संतरों को अपनी नई पहचान दी जा रही है। प्रशासन ने इस पहचान को स्थापित करने के लिए जिले के संतरे की यहीं से बेचने की भी योजना बनाई है. ज्ञातव्य है कि नागपुर से देश के साथ बांगलादेश व खाड़ी देशों तक संतरा निर्यात किया जाता है.

छिंदवाड़ा के कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन बताते हैं कि छिंदवाड़ा के संतरे को अलग पहचान के लिए 'सतपुड़ा आरेंज" नाम दिया गया है. यहां के संतरे के जूस की क्वालिटी सबसे अच्छी मानी जाती है. अब जिले में ही प्रसंस्करण यूनिट लगाने पर भी विचार किया जा रहा है.

जिले के संतरा किसान बताते हैं कि छिंदवाड़ा का संतरा बहुत अच्छा होता है. इनके छिलके पतले होते हैं और ये ज्यादा मीठे भी होते हैं. यही कारण है कि यहां के संतरों की देशभर में डिमांड है. कई किसान तो अब सीधे बहुराष्ट्रीय कपंनियों को ये संतरे बेच रहे हैं. व्यापारी फसल आने के पहले ही किसानों से सौदा कर लेते हैं और इसके बाद फल की तुड़वाई से लेकर बेचने का काम ये व्यापारी ही करते हैं.

जिले में संतरा उत्पादन
— करीब 24 हजार 500 हेक्टेयर में संतरों के बगीचे
— हर वर्ष लगभग चार लाख 49 हजार टन संतरा उत्पादन
— पांढुर्ना, सौंसर और बिछुआ ब्लाक में होता है संतरा

यह भी पढ़ें - खाद्य तेल में 32 रुपए प्रति लीटर की उछाल, अभी और बढ़ेंगे दाम, जानिए क्या है वजह

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

कश्मीर में आतंकी हमले में टीवी एक्ट्रेस की मौत, 10 साल के भतीजे पर भी हुई फायरिंगसुरक्षा एजेंसियों ने यासीन मलिक की सजा के बाद जारी किया आतंकी हमले का अलर्टIPL 2022, LSG vs RCB Eliminator Match Result: पाटीदार के दम पर जीता RCB, नॉकआउट मुकाबले में LSG को 14 रनों से हरायाटेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.