Municipal Corporation: पांच साल में बदली सूरत,फिर भी जाते-जाते ये रहा अफसोस

नगर निगम में भाजपा परिषद का पंचवर्षीय कार्यकल समाप्त,आज से कलेक्टर के पास चले जाएंगे अधिकार

 

By: manohar soni

Updated: 18 Feb 2020, 11:26 AM IST

छिंदवाड़ा.नगर निगम की भाजपा परिषद के पांच साल के कार्यकाल में 12 हजार गरीबों को प्रधानमंत्री आवास बनवाए तो छोटा तालाब का सौंदर्यीकरण,मॉडल रोड,धर्मटेकरी पार्क,सड़क,नाली निर्माण के साथ ट्रैफिक सिगनल को लगवाया। सिटी बस संचालन के साथ सोनपुर कचरा घर का स्थानांतरण जैसे ठोस कदम उठाए वहीं छिंदवाड़ा को स्वच्छ सिटी बनाने में योगदान दिया। बस मास्टर प्लान लागू न होने से जेल बगीचा ऑडोटोरियम,स्वीमिंग पुल,फल-फ्रुट मार्केट, ट्रांसपोर्ट नगर का सपना अधूरा रह गया।
कार्यकाल के अंतिम दिन सोमवार को महापौर कांता सदारंग,नगर निगम अध्यक्ष धर्मेन्द्र मिगलानी समेत सभापति निगम स्थित दफ्तर में पहुंचे तो उन्होंने अपनी उपलब्धियों को याद किया और घोषणा पत्र में किए गए वादों को 90 प्रतिशत तक पूरा करने का दावा किया। उन्होंने कहा कि आम जनता से फिर से मौका दिया तो शेष घोषणाओं को भी पूरा कर देंगे। पहली बार गठित नगर निगम में निर्वाचित परिषद की मुखिया महापौर कांता सदारंग ने 18 फरवरी 2015 को प्रथम सम्मेलन में शपथ ग्रहण की थी। इस हिसाब से उनके कार्यकाल का अंतिम दिन रहा। मंगलवार को कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा निगम परिषद के अधिकारों को ग्रहण कर प्रशासक बन जाएंगे। इस प्रशासक कार्यकाल में निगम में निर्माणाधीन परियोजनाओं पर काम होगा,कोई नए राजनीतिक निर्णय नहीं लिए जा सकेंगे।
...
परिषद कार्यकाल में ये विकास का दावा
1.निगम क्षेत्र में 12 हजार पीएम आवास और 15 हजार शौचालयों का निर्माण।
2.सोनपुर रोड स्थित कचरा घर का जामुनझिरी में स्थानांतरण तथा एमआईजी आवास निर्माण।
3.छोटा तालाब का सौंदर्यीकरण,धर्मटेकरी पार्क का निर्माण।
4.सिटी बस का संचालन,चौराहों का सौंदर्यीकरण,ट्रैफिक सिगनल लगाना।
5.खजरी चौक से छोटा तालाब से पाटनी पेट्रोलपंप तक मॉडल रोड।
...
कार्यकाल में अधूरे रह गए विकास के सपन
े1.शहर में मास्टर प्लान-2031 लागू न होने से जेलबगीचा ऑडोटोरियम,स्वीमिंग पुल,ऑटोमोबाइल्स,फल-फ्रुट मार्केट,ट्रांसपोर्ट नगर का निर्माण नहीं हो पाया।
2.निगम क्षेत्र में कन्या और बालक हायर सेकण्डरी स्कूल नहीं खुल पाए।
3.निगम क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त इंटरनेशनल स्टेडियम का निर्माण नहीं हो पाया।
4.प्रत्येक वार्ड में बुजुर्गो के लिए वाचनालय,बरारीपुरा-पातालेश्वर में नए पार्क, गुरैया मंडी रोड में पुल निर्माण नहीं।
5.मंगल कार्यालय,सुकलूढाना में 30 बिस्तरा अस्पताल का निर्माण नहीं होना।
...
अंतिम एक साल में पेयजल और ओवरब्रिज पर तेजी से काम
नगर निगम के अंतिम एक साल के कार्यकाल शेष रहते प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनी। जिले के नेता कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद माचागोरा बांध का पानी शहर पहुंचा तो वहीं टीबी सेनेटोरियम में ओवर ब्रिज का निर्माण शुरू हुआ। सेल्फी प्वाइंट के साथ चौराहों का विकास हुआ। मेडिकल कॉलेज सह सिम्स का निर्माण प्रारंभ कराया गया। जिला जेल के स्थानांतरण की योजना बनी। मिनी स्मार्टसिटी की कदम बढ़ाए गए। ये सभी घोषणाएं भाजपा द्वारा अपने निगम चुनावी घोषणा पत्र में शामिल की गई थी।
....
आज से निकलेंगे बोर्ड,गाड़ी और स्टाफ वापस
निगम आयुक्त इच्छित गढ़पाले ने बताया कि परिषद कार्यकाल समाप्त होने पर निगम दफ्तर में मौजूद महापौर,अध्यक्ष,सभापति और पार्षदों के बोर्ड हटा दिए जाएंगे। महापौर की गाड़ी और स्टाफ वापस ले लिया जाएगा। कलेक्टर प्रशासक के रूप में कार्य करने लगेंगे। उन्होंने शहर विकास संबंधित एक सवाल के जवाब में कहा कि शहर के विकास कार्य में कोई बाधा नहीं आएगी। कलेक्टर और आयुक्त इस पर निर्णय लेकर काम कराएंगे।
...
इनका कहना है..
निगम का पंचवर्षीय कार्यकाल उपलब्धियों भरा रहा। मास्टर प्लान लागू न होने से जेल बगीचा ऑडोटोरियम,ट्रांसपोर्ट नगर समेत अन्य सपने अधूरे रह गए। अंतिम एक वर्ष शेष रहने पर कांग्रेस सरकार द्वारा प्रताडि़त भी किया गया।
-कांता सदारंग,महापौर।
..
निगम कार्यकाल में हमारी परिषद 90 प्रतिशत चुनावी घोषणाएं पूरी करने में कामयाब रही। झुग्गी बस्तियों को समाप्त कर प्रधानमंत्री आवास समेत सौंदर्यीकरण जैसे जनहितकारी काम किए गए। इन उपलब्धियों को लेकर हम फिर जनसमर्थन हासिल करेंगे।
-धर्मेन्द्र मिगलानी,अध्यक्ष नगर निगम।
...भाजपा परिषद के कार्यकाल में निगम में 45 करोड़ की पेयजल परियोजना विफल रही। पांच साल में केवल 10 सम्मेलन हो पाए। कांग्रेस पार्षदों के वार्डों का विकास नहीं हो पाया। यूडीएसएसएमटी की सड़कें ठीक ढंग से नहीं बनी। अंतिम साल में जब कमलनाथ सरकार बनी,तब शहर में विकास देखने को मिला।
-वासु अली,नेता प्रतिपक्ष
..
भाजपा परिषद की शुरुआत में मैंने फर्जी राशनकार्ड,छोटा तालाब सौंदर्यीकरण में आर्थिक अनियमितता,पेयजल पाइप लाइन में भ्रष्टाचार जैसे मुद्दे उठाए। लगातार शिकायतों के चलते इनकी जांच भी हुई। पिछले एक साल से कांग्रेस सरकार आने के बाद कुछ विकास हुआ। हम पद पर रहे न रहे,जनसेवा करते रहेंगे।
-राजेश सोनी,पूर्व नेता प्रतिपक्ष

Patrika
manohar soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned