Negligence: छह माह बाद भी 49 जोड़े सरकारी योजना से हैं वंचित

Negligence: पोर्टल पर 3353 विवाह में केवल 3304 हो पाए रजिस्टर्ड, विभाग ने लिखा पत्र

By: prabha shankar

Published: 24 Jun 2020, 05:59 PM IST

छिंदवाड़ा/ फरवरी में पूर्व सीएम कमलनाथ की मौजूदगी में हुए 3353 सामूहिक विवाह के पंजीयन में बड़ी प्रशासनिक लापरवाही सामने आई है। इसमें 3304 जोड़ों को ही सीएम कन्यादान योजना के पोर्टल पर दर्ज किया गया और 49 जोड़ों को छोड़ दिया गया। अब इन जोड़ों को शासन की प्रोत्साहन राशि 48 हजार रुपए नहीं मिल पाएगी। हालांकि सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों ने इसके लिए राज्य शासन को पत्र लिखा है।
पुलिस ग्राउण्ड पर हुए इस सामूहिक विवाह को गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रेकॉर्ड में दर्ज कराने के लिए पूरे जिले से विवाह पंजीयन कराए गए थे। विवाह के दिन तक जोड़ों को ग्रामीण इलाकों से बुलाकर उन्हें शामिल कराया गया। इस आपाधापी में आयोजक यह भूल गए कि विवाह पोर्टल पहले ही बंद हो गया, जिससे इन 49 जोड़ों के नाम छूट गए। सामाजिक न्याय विभाग के पत्र पर शासन से उनके नाम जोडऩे की अनुमति दे दी है, लेकिन 20 फरवरी की स्थिति में पोर्टल खुल नहीं पा रहा है। इससे प्रक्रिया अटक गई है। जब ये नाम जोड़े जाएंगे, तभी वे 48 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि के पात्र होंगे। उपसंचालक सामाजिक न्याय सुशील गुप्ता का कहना है कि पोर्टल पर शेष नाम जोडऩे के लिए विभाग प्रयासरत है।

16 सौ से अधिक जोड़ों का नहीं मिला बजट
इस सामूहिक विवाह योजना में शामिल 1616 जोड़ों के नाम पर पिछले माह 7.75 करोड़ रुपए मिल चुके हैं। इनका भुगतान भी सम्बंधित नगरीय व जनपद निकायों को कर दिया गया है। शेष 1688 जोड़ों के लिए करीब नौ करोड़ रुपए की जरूरत है। इसकी मांग का पत्र राज्य शासन को भेजा गया है।

Show More
prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned