क्रमोन्नति सूची में गड़बड़झाला, कई के नाम गायब

क्रमोन्नति सूची में गड़बड़झाला, कई के नाम गायब
Negligence of the Department of Tribal Affairs

Prabha Shankar Giri | Publish: Mar, 08 2019 11:22:23 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

जिले में जनजातीय कार्य विभाग का मामला

छिंदवाड़ा. जनजातीय कार्य विभाग की ताजा जारी हुई क्रमोन्नति सूची को लेकर विवाद की स्थिति बन गई है। जिला स्तर पर जारी हुई सूची में वर्ष 2007 तक नियुक्त हुए कई शिक्षकों का नाम क्रमोन्नति सूची में है। विवाद इसलिए बढ़ रहा है कि इस लिस्ट में 2006 में नियुक्त किए गए शिक्षकों के नाम शामिल नहीं हैं। ऐसा क्यों हुआ है इस सम्बंध में अध्यापकों को विभाग से सही जवाब नहीं मिल रहा।
ध्यान रहे सरकारी विभागों में नियमानुसार नियुक्ति दिनांक से 12 वर्ष की सेवा पूरी करने के बाद क्रमोन्नति दी जाती है। मिली जानकारी के अनुसार जन जातीय कार्य विभाग जिला छिंदवाड़ा द्वारा जारी अध्यापक संवर्ग की क्रमोन्नति सूची में अनियमितता पाई गई है। विभाग ने पांच मार्च को आदेश क्रमांक 925 के तहत दो सूची जारी की। पहली सूची में 44 नाम हैं और दूसरी सूची में 116। इस तरह कुल 170 अध्यापकों को क्रमोन्नति दी गई है। इस सूची में कई पात्र अध्यापकों के नाम शामिल नहीं किए गए हैं। इस सम्बंध में सहायक आयुक्त एनएस वरकड़े से जानकारी लेने की कोशिश की गई लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई।

चार विकासखंडों के सौ से ज्यादा शिक्षक वंचित
ध्यान रहे जिले में जुन्नारदेव, तामिया, हर्रई और बिछुआ विकासखंड ट्राइबल के अंतर्गत आते हैं। मिली जानकारी के अनुसार चारों विकासखंडों के सौ से ज्यादा शिक्षक हैं जिनकी नियुक्ति 2006 में हुई थी। नियमानुसार इनको भी क्रमोन्नति का लाभ मिलना था, लेकिन इनके नाम सूची में नहीं हैं। यह तकनीकी त्रुटिवश हुआ है या फिर और कुछ कारण है यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। जिन पात्र अध्यापकों और सहायक अध्यापकों के नाम इसमें शामिल नहीं है वे संशय की स्थिति में है।

तत्काल जारी हो आदेश
इस मामले में सपाक्स कर्मचारी संगठन के जिला अध्यक्ष सुदीप जैन ने कहा है कि छूटे गए अध्यापकों के नाम तत्काल क्रमोन्नति सूची में शामिल किए जाएं। उन्होंने बताया कि सपाक्स कर्मचारी संगठन इस सम्बंध में वरिष्ठ जिला अधिकारियों से मुलाकात कर निराकरण के लिए कहेगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned