scriptNegligence.. plants destroyed due to lack of care, still went to see t | लापरवाही..देखरेख के अभाव में पौधे नष्ट, देखने गए फिर भी ये हालात | Patrika News

लापरवाही..देखरेख के अभाव में पौधे नष्ट, देखने गए फिर भी ये हालात

1.84 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट का रखरखाव नहीं कर रहे वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी

छिंदवाड़ा

Updated: April 22, 2022 08:30:12 pm

छिंदवाड़ा. वन विभाग के अधीन कैम्पा मद से अमरवाड़ा-नागपुर-छिंदवाड़ा मार्ग पर वर्ष 2017 में 8.54 किमी पर 1.84 करोड़ रुपए की लागत से किए गए पथ वृक्षारोपण में लगातार लापरवाही दिखाई दी हैं। देखरेख और रखरखाव के अभाव में करीब 50 फीसदी पौधे नष्ट हो गए हैं। विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों की उदासीनता को मैदान में जाकर ही देखा जा सकता हैं।
कैम्पा मद के प्लांटेशन एवं रखरखाव के लिए 10 वर्ष तक लगातार बजट आवंटन किया जाता हैं। जिसमें सुरक्षा, चौकीदार, सिंचाई, अग्नि सुरक्षा, फैंङ्क्षसग के इंतजाम किए जाते हैं। इस प्रोजेक्ट में प्लांटेशन के चारों तरफ सात लाइन में वाइब्रेट वायर की फैंसिंग की जाना थी। मौके पर तीन लाइन की फैंसिंग पाई गई। केवल नीलगिरी एवं अन्य प्रजाति के पौधे आधा से दो मीटर के दिखाई दिए। शेष पौधे नष्ट हो गए। पौधरोपण स्थल पर चौकीदार भी नहीं पाया गया। इस पौधरोपण स्थल की निगरानी की जिम्मेदारी रेंजर, एसडीओ समेत बड़े अफसरों की भी हैं। इससे उनके निरीक्षण की गुणवत्ता का अंदाजा भी लगाया जा सकता हैं। बताया जाता है कि इस प्रोजेक्ट में लगातार राशि विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों ने खर्च की है। फिर ये प्लांटेशन की हालत इतनी दयनीय क्यों है, यह सवाल बना हुआ हैं।
....
80 प्रतिशत पौधे जीवित रहना जरूरी
केम्पा मद के वृक्षारोपण के 80 प्रतिशत पौधे जीवित रहने पर उसे सफल माना जाता हैं। अगर इससे कम पौधे जीवित हैं तो यह विभागीय लापरवाही का प्रतीक हैं। शासन के नियमानुसार प्रतिवर्ष वृक्षारोपण के मूल्यांकन का प्रावधान भी हैं। जिसमें वनमण्डल और अंतर वृत स्तरीय अधिकारियों द्वारा मूल्यांकन और गिनती कार्य किया जाता है। इन अधिकारियों द्वारा तथ्यों को छिपाया गया हैं।
-रवीन्द्र सिंह, प्लांटेशन एक्सपर्ट व वृक्षमित्र
....
इनका कहना है...
केम्पा मद में हुए इस प्लांटेशन का बजट समाप्त हो गया हैं। यदि कहीं पौधे नष्ट हुए हैं तो उसे क्षतिपूर्ति में डालकर दोबारा लगा दिया जाएगा।
-रमेश सूर्यवंशी, प्रभारी रेंजर छिंदवाड़ा।
....

लापरवाही..देखरेख के अभाव में पौधे नष्ट, देखने गए फिर भी ये हालात
लापरवाही..देखरेख के अभाव में पौधे नष्ट, देखने गए फिर भी ये हालात

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मामले के बीच गोवा के सीएम का बड़ा बयान, प्रमोद सावंत बोले- 'जहां भी मंदिर तोड़े गए फिर से बनाए जाएं'BJP को सरकार बनाने के लिए क्यों जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारीआक्रांताओं द्वारा तोड़े गए मंदिरों के बारे में बात करना बेकार है: सद्गुरुबेल्जियम, पहला देश जिसने मंकीपॉक्स वायरस के लिए अनिवार्य किया क्वारंटाइनएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट की बात कर रहे हैं, जानें क्या है यह एक्टकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिअफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.