ऑनलाइन खरीदी-बिक्री से पहले पढ़ लें यह खबर, कहीं आप न हों अगला शिकार

ऑनलाइन खरीदी-बिक्री से पहले पढ़ लें यह खबर, कहीं आप न हों अगला शिकार
New Way of Online Thug

Prabha Shankar Giri | Updated: 13 May 2019, 09:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

अब तक जिले के आठ लोग अपनी मेहनत की कमाई गंवा चुके हैं

छिंदवाड़ा. मौजूदा दौर में हर काम ऑनलाइन हो रहा है, फिर पुराने सामान की खरीदी और बिक्री ही क्या नहीं हो। इसका फायदा बदमाश भी उठा रहे हैं। पुरानी सामग्री की ऑनलाइन खरीदी-बिक्री के दौरान लोग के लिए जरा-सी लापरवाही धातक साबित हो रही है। सामग्री बेचने और खरीदने के दौरान अब तक जिले के आठ लोग अपनी मेहनत की कमाई गंवा चुके हैं।
फर्जी तरीके से हड़पी गई रकम लाखों में बताई जा रही है। साइबर सेल की टीम ने उन नम्बरों को जुटा लिया है जिनके जरिए धोखाधड़ी की गई है। कुछ मोबाइल नम्बर अभी चालू हैं और कुछ बंद हो चुके हैं। संबंधित को गिरफ्तार करने किसी भी वक्त टीम रवाना हो सकती है।
कार, बाइक, मोबाइल सहित अन्य पुरानी सामग्री खरीदने के लिए लोग अपने मोबाइल नम्बर से ऐप पर आइडी बनाते हैं। सामान की फोटो ऐप पर लोड होती है। दाम और अन्य जानकारी फोटो के साथ दी जाती है जिसे देखने के बाद खरीदने वाला सम्बंधित व्यक्ति से ऑनलाइन चैट करता है जिसमें अगला व्यक्ति अपनी पहचान किसी अधिकारी के रूप में देता है और फर्जी कार्ड भी दिखाता है। इसके झासे में आकर लोग सामग्री पहुंचने से पहले ही राशि अगले व्यक्ति के खाते में ऑनलाइन जमा कर देते हैं। कुछ समय इंतजार करने के बाद भी जब सामान नहीं पहुंचता तब वे पुलिस और साइबर के चक्कर लगाने शुरू कर करते हैं। आठ मामले अभी तक सामने आ चुके हैं जिसमें लोग धोखाधड़ी का शिकार हुए हैं। साइबर सेल के मुताबिक बाइक, कार और मोबाइल खरीदने वालों की संख्या सबसे अधिक है जिन्होंने रुपए तो खाते में जमा करा दिए, लेकिन गाड़ी और मोबाइल घर तक नहीं पहुंचे।

मोबाइल नम्बर के आधार पर आगे बढ़ रही जांच
साइबर सेल में सब इंस्पेक्टर सत्येन्द्र सिंह बघेल ने बताया कि अभी तक पुराने सामान की ऑनलाइन खरीदी-बिक्री के दौरान हुई ठगी की आठ से 10 शिकायतें मिल चुकी हैं। पुराना सामान खरीदने और बेचने के दौरान लोग झासे में आकर रुपए गंवा चुके हैं। एक व्यक्ति सामान बेचने के नाम पर धोखाधड़ी कार शिकार हुआ है। सभी शिकायतों पर जांच जारी है। जिन मोबाइल नम्बरों से धोखाधड़ी हुई है उनकी जानकारी जुटा ली गई है। मोबाइल नम्बर के आधार पर उनकी अन्य जानकारी जुटाकर गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned