100 वर्षीय वृद्धा समेत नौ मरीज की मौत, जानें वजह

- जिला अस्पताल में सात तो जिले के बाहर दो मरीज है शामिल, नगर निगम ने छह का किया अंतिम संस्कार

By: Dinesh Sahu

Published: 28 Sep 2020, 11:29 AM IST

छिंदवाड़ा/ जुन्नारदेव के राखीकोल निवासी 100 वर्षीय वृद्ध महिला समेत सिवनी, छिंदवाड़ा, भोपाल तथा नागपुर में 9 मरीजों ने पिछले 15 घंटे में कोरोना उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। बताया जाता है कि जुन्नारदेव के राखीकोल निवासी 100 वर्षीय वृद्धा की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट 21 सितम्बर को आई थी, वह संक्रमित मृतक बेटे के सम्पर्क में आई थी।

परिवार वाले वृद्धा को जिला अस्पताल में भर्ती नहीं कराने चाहते थे, पर प्रशासन के दबाव के बाद भर्ती किया गया। मिली जानकारी के अनुसार सभी मृतकों का कोरोना संक्रमित होने पर छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस से सम्बद्ध जिला अस्पताल में उपचार चल रहा था। वहीं प्रशासन ने जिले के किसी भी मृतकों की मौत की वजह कोरोना संक्रमण नहीं मानी, जिसके चलते विभागीय रिकार्ड में अब तक 17 मृतकों को गणना में शामिल किया गया है।

इधर नगर निगम अमले ने शनिवार और रविवार को हुई छह मरीजों की मौत के बाद सामाजिक रीति-रिवाज और कोरोना प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार कर दिया। वहीं रविवार देर शाम को हुई मौत के शव मर्चुरी में रखे गए है, जिनका अंतिम संस्कार सोमवार को किया जाएगा।


दो मरीजों ने नागपुर तथा भोपाल में तोड़ा दम -


बीएमएस नेता समेत गोलगंज के एक व्यापारी ने नागपुर तथा भोपाल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। बताया जाता है कि कुछ दिन पहले ही दोनों मृतक उपचार के लिए भर्ती हुए थे।


इस तरह रहा मरीजों की मौत का घटनाक्रम -


मृतक ***** उम्र भर्ती तिथि निवास क्षेत्र मौत का दिन/समय
1. महिला 35 वर्ष -- ककई छिंदवाड़ा रविवार/--
2. पुरुष 58 वर्ष -- चांदामेटा छिंदवाड़ा रविवार/सुबह 8.20
3. महिला 100 वर्ष 21/09/20 राखीकोल जुन्नारदेव रविवार/सुबह 5.20
4. पुरुष 37 वर्ष -- पनारा डुंगरिया रविवार/दोपहर 12.00
5. पुरुष 68 वर्ष -- छपारा सिवनी रविवार/रात
6. महिला 70 वर्ष 25/09/20 चांदामेटा छिंदवाड़ा रविवार/शाम 4.30
7. महिला 48 वर्ष 20/09/20 बानाबकोड़ा सौंसर रविवार/शाम 7.00


- नोट विभागीय जानकारी के अनुसार विवरण।

COVID-19
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned