scriptNow a new rule is applicable for children to sit on the bike | बच्चों को बाइक पर बैठाने के लिए आ गया नया नियम, सभी को मानना पड़ेगा | Patrika News

बच्चों को बाइक पर बैठाने के लिए आ गया नया नियम, सभी को मानना पड़ेगा

वाहनों की फिटनेस के लिए भी नया नियम भी लागू.....

छिंदवाड़ा

Updated: March 29, 2022 05:24:30 pm

छिंदवाड़ा। दोपहिया वाहन पर बच्चों को बैठाकर सफर करने वालों के लिए सरकार ने सुरक्षा की दृष्टि से नया नियम लागू कर दिया है। बच्चों को दुर्घटना से बचाने के लिए मोटरयान अधिनियम में संशोधन किया गया है। इसके तहत नौ माह से लेकर चार वर्ष की उम्र तक के बच्चे को बाइक पर बैठाकर सफर कर रहे है तो सुरक्षा बेल्ट लगाना होगा। ऐसा नहीं करने पर पुलिस के पास कार्रवाई का अधिकार होगा।

msg630266128-126369.jpg
bike

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने केंद्रीय मोटरयान अधिनियम (दूसरा संशोधन) 2022 को लागू कर दिया है। बताया जा रहा है कि एक वर्ष बाद इस नियम को लेकर सड़क पर पूरी सख्ती नजर आएगी। संशोधन के बाद बाइक चालक को पीछे बैठने वाले नौ माह से लेकर 14 वर्ष तक की उम्र वाले बच्चों को सेफ्टी बेल्ट का उपयोग करना होगा। इससे बच्चा पीछे सुरक्षित तरीके से दोपहिया वाहन की सीट पर बैठा होगा। दुर्घटना होने पर भी बच्चा पूरी तरह से सुरक्षित होगा, क्योंकि ती उच्च गुणवत्ता के सेफ्टी बेल्ट को क्षमता 30 किलो तक का वजन सहन करने की क्षमता होगी। इस कि पीछे बैठ बेल्ट के उपयोग से वाहन चालक से सीट पर के इस बात को लेकर भी अलर्ट रहेगा कि पीछे बैठा बच्चा सुरक्षित तरीके से सीट पर बैठा है या फिर नहीं।

वाहनों की फिटनेस को लेकर भी नियम लागू

वाहनों की फिटनेस को लेकर भी नियम लागू किया जा चुका है। इसके तहत आठ साल पुराने वाहन के लिए दो साल का फिटनेस दिया जाएगा, जबकि आठ साल से अधिक पुराने वाहनों को एक साल का फिटनेस सर्टिफिकेट दिया जाएगा। वाहन बड़े शहरों में का फिटनेस टेस्ट भी देना अनिवार्य होगा। वाहन खरीदते इसको लेकर समय मालिक स्क्रैप पॉलिसी को जागरूक कर मानने का प्रमाण पत्र देता है तो की जाएगी। उसे नए वाहन के रजिस्ट्रेशन में रियायत मिलेगी।

निशा चौहान, अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, छिंदवाड़ा का कहना है कि रोड सेफ्टी की बेल्ट को लेकर जोर दिया गया था। बड़े शहरों में लोग सीट बेल्ट का इस्तेमाल करते हैं। छिंदवाड़ा में भी इसको लेकर आम लोगों को जागरूक करने की कोशिश की जाएगी।

इन नियमों का भी रखना होगा ध्यान

सेफ्टी हार्नेस बच्चों द्वारा पहनने वाला बेल्ट होगा। इसमें बच्चे का। ऊपरी हिस्सा सुरक्षित तरीके से चालक से जुड़ा होगा। पर्याप्त कुशिंग | युक्त फोम वाले बेल्ट होंगे जो 30 | किलो तक के भार को सम्भाल सकेंगे। बच्चों को क्रेस अथवा साइकिल हेलमेट पहनाना होगा, जो उसके सिर में सही ढंग से लग सके। बच्चे के पीछे बैठे होने पर वाहन की रफ्तार 40 किमी प्रति घंटे से अधिक नहीं होनी चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारकांग्रेस के चिंतन शिविर को प्रशांत किशोर ने बताया फेल, कहा- कुछ हासिल नहीं होगाउड़ान भरते ही बीच हवा में बंद हो गया Air India प्लेन का इंजन, पायलट को करानी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंगBJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातेंबिहार में बारिश व वज्रपात से 37 लोगों की मौत, जानिए बिहार में क्यों गिरती है इतनी आकाशीय बिजली?Pegasus Spyware Case: सुप्रीम कोर्ट ने जांच समिति का कार्यकाल 4 हफ्ते बढ़ाया, अब जुलाई में होगी सुनवाईबताओ सरकार : होटल वाले कैसे कर लेते हैं बाघ दिखाने का प्रबंध, High Court का सवाल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.