scriptOfficers will be transferred before Lok Sabha elections | लोकसभा चुनाव से पहले अधिकारियों के होंगे तबादले | Patrika News

लोकसभा चुनाव से पहले अधिकारियों के होंगे तबादले

locationछिंदवाड़ाPublished: Feb 10, 2024 09:46:07 pm

Submitted by:

mantosh singh

कलेक्टर की पदस्थापना से प्रशासनिक गलियारों में बढ़ी सुगबुगाहट

election.jpg

छिंदवाड़ा. लोकसभा चुनाव की दृष्टि से प्रशासन और पुलिस की नई टीम फिर से बन सकती है। छह माह पुराने मनोज पुष्प को हटाने और नए कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की पदस्थापना से प्रशासनिक गलियारों में इसकी सुगबुगाहट शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि चुनाव आचार संहिता लगने से पुलिस अफसरों के चेहरे भी बदले जा सकते हैं। इससे अप्रैल में होने वाले चुनाव का जिम्मा नए अधिकारी संभालेंगे।
प्रशासनिक गलियारों के अनुसार विधानसभा चुनाव से पहले तत्कालीन शिवराज सरकार ने कलेक्टर के साथ राजस्व, पुुलिस समेत अन्य विभागों के अधिकारियों के तबादले किए थे। इसके बाद भी सत्तारूढ़ दल भाजपा को नवम्बर में हुए चुनाव में सातों सीट में कामयाबी नहीं मिल सकी। इससे संगठन और सरकार को ये फीडबैक पहुंचा कि प्रशासन के परफॉरमेंस में कहीं न कहीं कोई कमी थी। इससे आम नागरिकों की जनसमस्याएं हल नहीं हो सकी। उन्होंने असंतुष्ट होकर वोट किया। इसके चलते सरकार ने सबसे पहले कलेक्टर रहे मनोज पुष्प को हटाया और मंत्रालय भोपाल में पहुंचाया। इस राजनीतिक गणित से कर्मचारी वर्ग का आकलन है कि एसडीएम, तहसीलदार और नायब तहसीलदारों के परफॉरमेंस देखा जा सकता है। इसके साथ ही पुलिस अफसरों के कामकाज की भी समीक्षा होगी। इनकी पदस्थापना भी सरकार एक्शन ले सकती है।
चुनाव आचार संहिता से पहले इनमें से कुछ अधिकारियों के ट्रांसफर हो सकते हैं। नए कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह भी अपने अधिकार क्षेत्र से राजस्व अधिकारी-कर्मचारियों को बदल सकते हैं। लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया 15 अप्रैल के आसपास शुरू होना संभावित मानी जा रही है। इसे देखते हुए चुनाव आचार संहिता 45 दिन पहले मार्च के पहले सप्ताह में लग सकती है। इससे पहले सरकार दूसरे अधिकारियों को भी बदल सकती है, जिनका परफॉरमेंस सरकार की छवि को खराब कर रहा है। अभी तक की पदस्थापना पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के समय की है।

ट्रेंडिंग वीडियो