100 बिस्तर वाले अस्पताल में मात्र एक डॉक्टर

नगर के 100 बिस्तर वाले अस्पताल एवं आइसोलेशन वार्ड के अलावा हजारों प्रवासी मजदूरों की स्कैनिंग और इमरजेंसी ड्यूटी एकमात्र चिकित्सक डॉ. अर्चना कैथवास के भरोसे है वह भी अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रही हैं। वहीं पूरे ब्लॉक का भ्रमण भी वह कर रही है।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 31 Mar 2020, 05:54 PM IST

छिंदवाड़ा/अमरवाड़ा/नगर के 100 बिस्तर वाले अस्पताल एवं आइसोलेशन वार्ड के अलावा हजारों प्रवासी मजदूरों की स्कैनिंग और इमरजेंसी ड्यूटी एकमात्र चिकित्सक डॉ. अर्चना कैथवास के भरोसे है वह भी अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रही हैं। वहीं पूरे ब्लॉक का भ्रमण भी वह कर रही है।
विगत तीन दिनों से अमरवाड़ा में पदस्थ डॉ. अलमास खान और डॉ. पुष्पेंद्र धाकड़ बिना बताए ड्यूटी गायब है। जिससे अस्पताल में मरीजों की भीड़ बढ़ रही है। मरीज और उनके परिजन लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंस के निर्देशों का उल्लंघन करते देखा जा रहे हैं। इस सिविल अस्पताल में लगभग 2000 प्रवासी मजदूरों ने जांच करा चुके हैं जिन्हें सावधानी बरतने के निर्देश दिए गए हैं।
उल्लेखनीय है कि यहां कोई भी मजदूर को कोई स्वास्थ संबंधित शिकायत नहीं है वहीं छुई एवं बड़ेगांव स्वास्थ्य केंद्र भगवान भरोसे चल रहे हैं। सिंगोडी, सोनपुर आयुष चिकित्सकों के जिम्मे हैं। फिलहाल सिंगोड़ी में आइसोलेशन वार्ड के चलते डॉ. गौरव राय को भेजा गया है। अमरवाड़ा के इस सिविल अस्पताल की तरफ जिला स्वास्थ्य अधिकारी एवं जिला प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है जबकि इस सिविल अस्पताल में एक दर्जन के अधिक चिकित्सकों के पद स्वीकृत हैं। आइसोलेशन वार्ड में प्रत्यक्ष से चिकित्सक की सुविधा होनी चाहिए वहीं मॉस्क एवं सेनिटाइजर की व्यवस्था के साथ गायब हुए दोनों चिकित्सकों पर कार्यवाही के साथ चिकित्सकों की पूर्ति की मांग की जा रही है।

Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned