scriptOpen food items being sold openly in the open market | Open food: खुले बाजार में खुलेआम बिक रही खुली खाद्य सामग्री | Patrika News

Open food: खुले बाजार में खुलेआम बिक रही खुली खाद्य सामग्री

खुले बाजार में खुलेआम खाद्य सामग्री बेची जा रही है। होटल और अन्य प्रतिष्ठानों के साथ ही मिष्ठानों में बेची जा रही खुली खाद्य सामग्री प्रतिबंधित है,

छिंदवाड़ा

Published: April 27, 2022 01:18:12 pm

छिंदवाड़ा. खुले बाजार में खुलेआम खाद्य सामग्री बेची जा रही है। होटल और अन्य प्रतिष्ठानों के साथ ही मिष्ठानों में बेची जा रही खुली खाद्य सामग्री प्रतिबंधित है, लेकिन जिला मुख्यालय से लेकर जिले के विकासखंड मुख्यालय और गांव-गांव में खाने वाली सामग्री खुले बेची जा रही है जो नियम विरुद्ध है।

Open food
Open food

खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 में खाद्य सामग्री के निर्माण, संग्रहण और विक्रय को लेकर दिशा निर्देश जारी किए गए हैं जिसका अनुपालन खाने-पीने की सामग्री बेचने वालों को करना है। किसी भी प्रतिष्ठान से बेची जाने वाली मिठाइयां, नमकीन, बिस्किट से लेकर अन्य सामग्री को बंद पैकेट में बेचना है, साथ ही बेची जाने वाली सामग्री के पैकेट पर निर्माण की तारीख, उपयोग करने की अंतिम तारीख और उक्त सामग्री के उपयोग से बाहर होने की संभावित तारीखें लिखी होनी चाहिए ताकि उपयोगकर्ता को सामग्री खरीदते समय ही सारी जानकारी मिल जाए और वह उसके मुताबिक ही उसका इस्तेमाल कर सके। उपयोग करने से पहले ही सामग्री खराब निकलती है तो ग्राहक सम्बंधित दुकान पर उसे लौटा सके, लेकिन यह तब संभव होगा जब रोजमर्रा के जीवन में शामिल होने वाली खाद्य सामग्री बंद पैकेट में मिले साथ ही उसका बिल भी मिले।

नहीं हो रहा नियमों का पालन

शहर के फुटपाथ से लेकर शहर की बड़ी और नामचीन दुकानों पर भी खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम का पालन नहीं हो रहा है। दुकान संचालक खुली सामग्री बेचने से कोई परहेज नहीं कर रहे हैं, क्योंकि उनके खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो रही है। जबकि खुली सामग्री बेचना पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है जिसमें खासकर मिठाइयां और अन्य सामग्री शामिल है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ फूड सेफ्टी एण्ड स्टैंर्ड एक्ट 2006 के तहत जुर्माना करने का प्रावधान है।

यह होता है फायदा

खुली खाद्य सामग्री खरीदने से उसके उपयोग से लेकर खराब होने की संभावित जानकारी ग्राहक के पास नहीं होती। दुकान संचालक ने खराब सामग्री ही थमा दी तो भी अंदाजा नहीं लगाया जा सकता न ही दुकान संचालक पर क्लेम किया जा सकता है। बंद पैकेट में खरीदी गई सामग्री किसी एक कम्पनी की होगी और वह खराब होती है तो उसके खिलाफ कार्रवाई के लिए ग्राहकों के पास साक्ष्य होते हैं और सबसे बड़ी बात खुली सामग्री पर धूल, मिट्टी लगी होने के साथ ही जाने कितने लोगों के खुले हाथों से होकर निकलती है। जबकि पैक सामग्री में इस तरह की कोई भी परेशानी नहीं होती।

खुली सामग्री में मिलावट ज्यादा
खाद्य विभाग के द्वारा अभी तक की गई कार्रवाई में यही पुष्टि हो रही है कि खुले में बेची जाने वाली सामग्री में सबसे अधिक मिलावट होती है। जनवरी 2021 से अभी तक की गई कार्रवाई में इस बात का खुलासा हुआ है कि खुले में बेची जाने वाली सामग्री में सबसे ज्यादा मिलावट हुई है। विभाग से प्राप्त एक आंकड़े के अनुसार

खाद्य सामग्री के लिए गए नमूने- 811

फेल हुए नमूनों की संख्या- 105

दर्ज प्रकरणों की संख्या- 73

दर्ज प्रकरण सी.जे.एम- 5

कुल अर्थदंड राशि- 29,59000

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीMaharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के दीपक केसरक का बड़ा बयान, कहा- हमें डिसक्वालीफिकेशन की दी जा रही हैं धमकीMaharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितTeesta Setalvad detained: तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात ATS ने लिया हिरासत में, विदेशी फंडिंग पर होगी पूछताछकर्नाटक में पुजारियों ने मंदिर के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, ठगे 20 करोड़ रुपएAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात- रिपोर्ट'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.