संतरा उत्पादक किसान कोरोना के साथ-साथ प्राकृतिक आपदा की मार झेल रहे है

क्षेत्र के संतरा उत्पादक किसान कोरोना के साथ-साथ प्राकृतिक आपदा की मार झेल रहे हैं। एक ओर कोरोना के कारण जहां बागीचों में संतरा फल की तुड़ाई और परिवहन नहीं हो पा रहा है। वहीं दूसरी ओर बीते चार दिनों से मौसम बदलने की वजह से तेज आंधी-तूफान और बारिश के कारण फल नीचे गिरने से नुकसान हुआ है।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 27 Mar 2020, 05:25 PM IST

पांढुर्ना. क्षेत्र के संतरा उत्पादक किसान कोरोना के साथ-साथ प्राकृतिक आपदा की मार झेल रहे हैं। एक ओर कोरोना के कारण जहां बागीचों में संतरा फल की तुड़ाई और परिवहन नहीं हो पा रहा है। वहीं दूसरी ओर बीते चार दिनों से मौसम बदलने की वजह से तेज आंधी-तूफान और बारिश के कारण फल नीचे गिरने से नुकसान हुआ है।
किसानों के साथ-साथ व्यापारियों को इस दोहरी मार का सामना करना पड़ रह है। ऐसे कई किसान हंै जिनकी मुख्य आय संतरे के बागीचें ही है। प्रशासन इन दिनों कोरोना महामारी को लेकर अलर्ट है। इसकी वजह से किसानों की मुख्य समस्या की ओर पुरी तरह से ध्यान नहीं दिया जा पा रहा है। सांसद नकुलनाथ की पहल के बाद प्रशासन ने संतरा परिवहन की अनुमति प्रदान करना प्रारंभ कर दिया है। ग्रामीण किसानों को पूरी जानकारी नहीं होने के कारण वे गुरुवार को जानकारी जुटाते रहे। एसडीएम सीपी पटेल ने कहा है कि वे फलों को तोडक़र विधिवत परिवहन का आवेदन दे सकते हैं जिसके बाद उन्हें अनुमति प्रदान की जा रही है। इधर, कांग्रेस के किसान प्रकोष्ठ के अध्यक्ष हरनामसिंह सेंगर ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि वे फसल नुकसान के बदले किसानों को मुआवजा प्रदान करें।

रात में तेज हवा के साथ झमाझम बारिश से हुआ नुकसान
बिछुआ . एक तरफ कोरोना वायरस का डर सता रहा। वहीं नगर सहित ग्रामीण क्षेत्र में बे-मौसम बारिश से किसानों को परेशानी में डाल दिया है। अधिकांश किसानों की खेतों में खड़ी पककर तैयार सूखी फसलों की कटाई भी नहीं पाई है। इस बे-मौसम बारिश से फसल बर्बाद होने का खतरा बढ़ गया है। बे-मौसम बारिश से बिछुआ विकासखंड ग्राम चंद्रिकापुर, धनेगांव, खमरा, खमारपानी, थोटामाल, किसनपुर, दातला, गुमतरा आदि में बुधवार की रात तेज हवा के साथ बारिश हुई। इससे गेहूं, चना समेत संतरा की फसल को नुकसान हुआ है। किसानों ने शासन प्रशासन से सर्वे कर मुआवजे की मांग की है।

तेज बारिश
बड़चिचोली . ग्राम बडचिचोली में बुधवार रात के समय तेज हवा के साथ बारिश भी जमकर हुई है। इससे किसानों की गेहूं, चना तथा संतरे की फसल को नुकसान हुआ है। गेहूं फसल गिर चुकी है। संतरा फसल को भी नुकसान हुआ है। इससे चिंतित किसानों ने सर्वे की मांग की है।

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned