Order: कोरोनाकाल में भी जाना होगा विद्यार्थियों को स्कूल, जानिए वजह

कक्षा नौ से 12 वीं तक की 30 जून तक चलेगी प्रवेश प्रक्रिया, छात्रों के लिए बनेंगे स्लॉट

By: prabha shankar

Published: 14 Jun 2021, 09:10 AM IST

छिंदवाड़ा। कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों में विद्यार्थियों के लिए पढ़ाई एवं परीक्षा बंद रखी गई है, लेकिन 15 जून से 30 जून तक प्रवेश की प्रक्रिया के लिए बच्चों व अभिभावकों को स्कूलों में पहुंचना ही होगा। इसमें कक्षा नौवीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के प्रवेश की प्रक्रिया ऑफलाइन होगी। हाल ही में कोरोना संक्रमण से उबरे जिले के अभिभावकों ने प्रवेश प्रक्रिया के लिए विद्यार्थियों को स्कूल बुलाए जाने पर चिंता जताई है। हालांकि शासन स्तर पर सोशल डिस्टेंसिंग के भी इंतजाम किए गए हैं। यह बात और है कि इसका पालन कहां तक हो सकेगा, यह प्रबंधन पर ही निर्भर करता है।

सुरक्षा के दिए गए हैं निर्देश
प्रवेश की प्रक्रिया विद्यालय में उपलब्ध कक्षों के आधार पर एक स्लॉट में अधिकतम 25 विद्यार्थियों को बुलाया जाएगा। किसी भी कक्षा में पांच से अधिक विद्यार्थी मौजूद नहीं होंगे। कक्ष में प्रवेश करने की जानकारी कक्ष के बाहर चस्पा कागज पर लिखी होगी। प्रवेश करते समय दो गज की दूरी एवं मास्क लगाना अनिवार्य होगा। स्कूल के गेट पर ही पानी, साबुन एवं सेनेटाइजर की व्यवस्था स्कूलों को करनी होगी।

10वीं के छात्रों को भी मिलेगा प्रवेश कक्षा 10वीं के परीक्षा परिणाम अभी जारी नहीं हुए हैं, उनके जुलाई के पहले सप्ताह में आने की संभावना है, लेकिन 30 जून तक प्रवेश प्रक्रिया पूरी करनी है इसके लिए उन्हें भी 11 वीं प्रवेश, अद्र्धवार्षिक परीक्षा के परिणामों के अनुसार दिया जाएगा। इसके लिए उन्हे परिणामों का इंतजार नहीं करना होगा

विद्यार्थियों से भरवाए जाएंगे प्रपत्र
विद्यार्थियों से प्रवेश के समय प्रपत्र भरवाए जाएंगे जिसमें उनसे स्मार्ट फोन, वाट्सऐप नम्बर, टीवी, सामान्य फोन, मोबाइल रखने वाले का नाम, सहित डिजीलेप की जानकारी के बारे में जानकारी देंगे। जबकि शिक्षकों द्वारा भी छात्र के पास स्मार्ट फोन की उपलब्धता के बारे में एक प्रपत्र भरकर प्राचार्य को दिया जाएगा। वहीं प्राचार्य भी प्रतिदिन प्रवेश पूर्ण होने पर स्मार्ट फोन, टीवी से लेकर समस्त जानकारी दर्ज करते हुए एक अलग प्रपत्र तैयार करेंगे।

इनका कहना है

स्कूल लगना चाहिए, बच्चों की पढ़ाई खिलाफ नहीं है लेकिन प्रवेश प्रक्रिया ऑफलाइन की जा रही है। यदि प्रवेश प्रकिया के दौरान यदि किसी बच्चे को संक्रमण होता है तो जिम्मेदारी किसकी रहेगी। ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया भी ऑनलाइन पढ़ाई की तरह ही है, ऐसे समय में सुरक्षित हो सकती हैं।
रोहित रॉबिन मालवी, अभिभावक

बच्चों का एडमिशन प्रक्रिया 15-20 के स्लाट बनाकर पूरी की जाएगी। सभी स्कूलों को सूचना दी जा चुकी है, प्रवेश प्रक्रिया ऑफलाइन ही की जाएगी। प्रवेश 30 जून तक किए जाने हैं।
अरविंद चौरगढ़े, जिला शिक्षा अधिकारी

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned