पुलिस और पब्लिक के बीच की दूरी कम करने हो रहे यह प्रयास, आप भी जानें

जनता ने खुलकर बताईं अधिकारियों को समस्याएं

By: Rajendra Sharma

Published: 01 Jul 2019, 08:10 AM IST

छिंदवाड़ा. समस्या होने के बाद भी कई लोग शिकायत लेकर अधिकारियों तक आज भी नहीं पहुंच पाते। आर्थिक से लेकर शारीरिक परेशानी इसमें आड़े आती है। तमाम कारणों के चलते लोग समस्या से जूझते हैं, लेकिन उसे हल करने के लिए प्रयास नहीं कर पाते। आम जनता की समस्या को सुनने और सुलझाने के लिए पुलिस ने जनसंवाद का सहारा लिया है। 29 जून को जिले के प्रत्येक थाना में संवाद का आयोजन किया गया। इधर, चांद थाना में भी जनसंवाद किया गया।
जिले में पुलिस, आम जनता, जन प्रतिनिधियों एवं नागरिकों के बीच बेहतर समन्वय व पुलिसिंग को दृष्टिगत रखते हुए एसपी मनोज कुमार राय एवं एएसपी शशांक गर्ग के निर्देश पर 24 थानों में जनसंवाद का कार्यक्रम हुआ। अधिकारियों ने सीधे जनता से चर्चा कर उनकी जुबान से समस्याएं सुनीं। ग्रामीणों ने भी अपनी बात खुलकर रखी जिसे अधिकारियों ने सुना। समस्याओं को सुलझाने के लिए आश्वासन भी दिया। जनसंवाद के पीछे पुलिस का एक मकसाद यह भी है कि आम लोगों को छोटी-छोटी समस्या के लिए जिला मुख्यालय की दौड़ न लगाना पड़े। थानास्तर पर ही उनकी समस्याओं का समाधान हो सके। इस तरह के कार्यक्रम से पुलिस और पब्लिक के बीच की दूरी कम करने का भी प्रयास किया जा रहा है। पुलिस से मेल-जोल बढऩे से पुलिस की आम लोगों से दूरी कम होगी और कई तरह की जानकारी साझा होती रहेगी।

हेल्प लाइन नम्बरों की दी जानकारी

जनसंवाद में नाबालिग बच्चों से सम्बंधित अपराध, महिला जागरुकता अभियान, घरेलू महिला हिंसा, महिला प्रताडऩा, अनुसूचित जाति व जन जाति अधिनियम, हेल्प लाइन 1098, 108, 100 डायल के बारे में बताया और नशे से दूर रहने की सलाह दी गई। वर्तमान में मानसून को दृष्टिगत रखते हुए भूमिक से जुड़े विवाद अत्याधिक रहते हैं।

ऐसी शिकायतें मिलीं

थाना अमरवाड़ा के सिंगोड़ी में जनसंवाद में भूमि विवाद के आवेदन प्राप्त कर तत्काल थाना प्रभारी की ओर से प्रतिवेदन राजस्व विभाग को भेजा गया। साथ ही ग्राम सिंगोडी में फ्लोराइड पानी से संबंधित जानकारी दी गई जिसे सम्बंधित विभाग तक पहुंचाया जाएगा।

Kamal Nath
Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned