दो तस्वीरें : एक तरफ पुलिस की जांच, दूसरी तरफ दिखा रहे ठेंगा

दो तस्वीरें : एक तरफ पुलिस की जांच, दूसरी तरफ दिखा रहे ठेंगा

Rajendra Sharma | Updated: 16 Jun 2019, 08:16:03 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

नियमों की अनदेखी : शहर में ओवरलोड दौड़ रहे ऑटो

छिंदवाड़ा. सडक़ दुर्घटना रोकने और चालकों को यातायात के नियमों से अवगत कराने के लिए पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। जिले में दुर्घटना के तीन मुख्य क्षेत्र हर्रई, अमरवाड़ा और नागपुर रोड पर सुधार करने के बाद पुलिस ने जिला मुख्यालय पर जांच-पड़ताल शुरू की। शनिवार मानसरोवर कॉम्प्लैक्स स्थित बस स्टैंड सहित अन्य स्थानों पर कार्रवाई की।
पुलिस की एक तरफ जांच चल रही थी तो दूसरी तरफ नियमों को ठेंगा दिखाया जा रहा था वो भी पुलिस के जांच पाइंट से कुछ दूरी पर ही।
इंदिरा तिराहा पर परासिया रोड की तरफ भारी पुलिस बल तैनात होकर बाइक पर तीन सवारी, हेलमेट नहीं पहनने वाले, ओवरलोडिंग और यात्री वाहन में सामग्री लेकर चलने वालों को रोककर उनके खिलाफ चालानी कार्रवाई कर रही थी। भारी पुलिस बल यहां तैनात था, इसी बीच फव्वारा चौक की तरफ से एक साथ दो ऑटो ओवरलोड यात्री बिठाकर इंदिरा तिराहा होते हुए पुलिस लाइन की तरफ गए।
पुलिस की जांच को ऑटो चालक खुलेआम ठेंगा दिखा रहे हैं। शहर में सबसे ज्यादा बेतरतीब ढंग से ऑटो के चालक दौड़ रहे हैं जिनके कारण किसी भी वक्त बड़ी दुर्घटना हो सकती है। डीएसपी सुदेश कुमार सिंह ने बताया कि शनिवार को 28 वाहनों के चालकों पर चालानी कार्रवाई की गई।

 

सजग स्व-साधना मंडल आज मनाएगा पिता दिवस    छिंदवाड़ा. सर्व जागृृति गण परिषद के अंतर्गत सजग स्व-साधना एवं अखंड देश भक्ति-जन जागृृति अभियान से जुड़े लोगों ने रविवार को पिता दिवस मनाएंगे। संस्था के संयोजक कृपाशंकर यादव ने बताया कि पिता दिवस के अवसर पर सजग कार्यालय इएलसी हॉस्टल में सुबह नौ से 11 बजे तक संगोष्ठी रखी गई है। इसमें नगर के प्रबुद्धजन अपनी सहभागिता प्रदान कर उदगार व्यक्त करेंगे। 14 जून को दस दिवसीय मौन-विपष्यना साधना पूर्ण करने के बाद कृपाशंकर यादव ने सजग स्व-साधना मंडल सु जुड़े लोगों के बीच अपने सुझाव रखे। उन्होंने बताया विश्व में पिता दिवस (फादर्स डे) कब से मनाया जाता है। वैसे तो पूरी दुनियां में जून माह का तीसरा रविवार फारर्स डे के रूप में मनाया जाता है हर पिता अपना सारा जीवन अपने बच्चों के खुशी के लिए समर्पित कर देते हैं। फादर्स डे की शुरुआत अमेरिका के वाशिंगटन से हुई थी। सबसे पहले फादर्स डे को 19 जून 1910 मनाया गया था। सोनोरा डॉड ने अपने पिता की याद में वॉशिंगटन के स्पोकेन शहर में इस दिन की शुरुआत की थी। सोनोरा डॉड के पिता एक किसान थे और सेना में अपनी भूमिका निभा चुके थे। सोनोरा डॉड की माँ की मृत्यु उनके बचपन में हो गई थी। इसके बाद उनके पिता ने उन्हें माता और पिता दोनों का प्यार दिया था। फादर्स डे (पिता दिवस) को मनाने की बात सोनोरा डॉड के दिमाग में मदर्स डे के दिन से आई थी। अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन  सन 1916 में ने फादर्स डे को मनाने के प्रस्ताव को स्वीकृति दी। अमेरिकी राष्ट्रपति लिंडन जॉनसन ने 1966 में इसे जून के तीसरे रविवार को मनाने का फैसला किया।  सजग परिषद के संयोजक सेवानिवृृत्त इंजी. कृपाशंकर एवं वृृक्ष मित्र रविन्द्रसिंह कुशवाह ने आह्वान किया कि १६ जून से प्रकृति के जल स्रोतों संरक्षण-संवर्धन एवं धार्मिक आस्थावान, फलदार, वनोषद्यीय पौधों के बीजों के रोपण का कार्य को नदी, नाले एवं अन्य जल स्रोतों के किनारे वट सावित्री पूर्णिमा से कार्य प्रारम्भ किया जाएगा।

13 लोगों पर पुलिस एक्ट में कार्रवाई

ट्रैफिक डीएसपी सिंह ने बताया कि शनिवार को सडक़ पर हाथठेला और गुमठी लगाने वालों के खिलाफ भी चालानी कार्रवाई की गई। 34 पुलिस एक्ट के तहत 13 गुमठी और हाथठेला के मालिकों के चालान बनाए गए। सभी को हिदायत दी गई है कि वे दोबार सडक़ पर दुकानें बिल्कुल न लगाएं। गुमठी और हाथठेला के सडक़ पर होने के कारण वाहनों की आवाजाही प्रभावित होती है और कई बार जाम के हालात भी बनते हैं। उन्होंने बताया कि आगे भी इस तरह की कार्रवाई जारी रहेगी।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned