रेलिंग ने कार को बीच से चीर दिया, दो बहनों की दर्दनाक मौत

हादसा मंगलवार सुबह करीब छह बजे सुरखी के समीप भिलैंया तिराहे पर हुआ।

By: prabha shankar

Published: 16 May 2018, 08:00 AM IST

छिंदवाड़ा/सागर. कार चलते समय लगी झपकी से हुए हादसे में अमरवाड़ा की पौनार निवासी दो सगी बहनों सहित एक छात्र की जान चली गई। हादसा मंगलवार सुबह करीब छह बजे सुरखी के समीप भिलैंया तिराहे पर हुआ। कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि रेलिंग से टक्कर के बाद उसका एक हिस्सा आगे से पीछे तक कट गया। जबकि एक छात्र को गंभीर हालत में बीएमसी सागर से जबलपुर रेफर किया गया है।
सुरखी टीआई रामप्रसाद कुसमाकर के अनुसार सागर की एसवीएन यूनिवर्सिटी में अध्ययनरत छात्र प्रशांत पुत्र राजेश दुबे (20) गुडगांव हरियाणा अपने छिंदवाड़ा अमरवाड़ा निवासी सहपाठी सत्यम पुत्र प्रदीप तिवारी (22), कुंती (20) और चंद्रकुमारी पुत्री चैनसुख जंगेला (23) निवासी अमरवाड़ा जिला छिंदवाड़ा कार में छिंदवाड़ा से लौट रहे थे। जब उनकी कार सुरखी के पास भिलैंया तिराहे से गुजर रही थी, तभी कार चला रहे युवक की झपकी लग गई। कार अनियंत्रित हो गई और लहराते हुए हाइवे से उतरकर रेलिंग से जा टकराई। कार रेलिंग से कटर की तरह आगे से पीछे तक कट गई और उसमें सवार छात्र प्रशांत दुबे और छात्रा कुंती की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि कुंती बहन चंद्रकुमारी ने बीएमसी में दम तोड़ दिया।

अस्पताल कैम्पस में लगी सहपाठी छात्रों की भीड़
हादसे में तीन सहपाठियों की मौत के बाद कुछ ही देर में एसवीएन यूनिवर्सिटी से बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं पहले सुरखी और फिर जिला अस्पताल परिसर में मर्चुरी के सामने जमा हो गए। छात्रों में अपने दोस्तों की दर्दनाक मौत का दु:ख झलक रहा था। छात्राएं भी सिसक रही थीं। हादसे की खबर लगते ही कुलपति अनिल तिवारी, प्रबंधन और अकादमिक स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे। छात्र-छात्राओं के परिजन से चर्चा की। उनके आने तक अस्पताल परिसर में मौजूद रहे। छात्रों ने बताया कि प्रशांत यूनिवर्सिटी में बीटेक फायर सेफ्टी, छिंदवाड़ा जिले के अमरवाड़ा निवासी सगी बहन कुंती और चंद्रकुमारी जंगेला बीएससी और बीटेक एग्रीकल्चर की पढ़ाई कर रहीं थीं। उन्हीं के जिले का सत्यम भी फायर सेफ्टी का छात्र था।

पौनार में पसरा मातम
अमरवाड़ा. पौनार निवासी चैन सिंह पटेल की दोनों पुत्रियों के एक्सीडेंट में मौत की खबर सुनकर पूरे गांव में मातम छा गया। सागर में हुए हादसे के बाद शव घर पहुंचने पर शोक की लहर छा गई। कृषि कॉलेज में अध्ययनरत दोनों होनहार पुत्रियों की अंतिम विदाई में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। असामयिक मौत हो जाने से लोगों ने भावुक होकर अश्रुपूरित श्रद्धांजलि दी।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned