scriptPeople are unable to bear the tension in the villages and towns | गांव-कस्बों में तनाव नहीं झेल पा रहे लोग | Patrika News

गांव-कस्बों में तनाव नहीं झेल पा रहे लोग

गांव-कस्बों में भी लोग तनाव को नहीं झेल पा रहे। पांढुर्ना विकासखंड़ में पिछले तीन माह में 43 लोगों ने जहर सेवन कर जान देने की कोशिश की। समय रहते उपचार मिलने से अधिकांश को बचा लिया गया पर चार लोगों की मौत हो गई। सरकारी अस्पताल में हर दिन कम से कम दो लोगों को जहर सेवन से तबीयत बिगडऩे पर लाया जाता है। बीते माह 20 लोगों ने जहर सेवन किया। इनमें दो महिलाएं भी थी। फ रवरी में 9 लोगों ने जहर खा लिया तो जनवरी में चार ने जहर पीकर जान देने की कोशिश की।

छिंदवाड़ा

Published: April 04, 2022 06:17:29 pm

छिन्दवाड़ा/पांढुर्ना .गांव-कस्बों में भी लोग तनाव को नहीं झेल पा रहे। पांढुर्ना विकासखंड़ में पिछले तीन माह में 43 लोगों ने जहर सेवन कर जान देने की कोशिश की। समय रहते उपचार मिलने से अधिकांश को बचा लिया गया पर चार लोगों की मौत हो गई। सरकारी अस्पताल में हर दिन कम से कम दो लोगों को जहर सेवन से तबीयत बिगडऩे पर लाया जाता है। बीते माह 20 लोगों ने जहर सेवन किया। इनमें दो महिलाएं भी थी। फ रवरी में 9 लोगों ने जहर खा लिया। तो जनवरी में चार ने जहर पीकर जान देने की कोशिश की। समय पर अस्पताल लाने से अधिकांश को मौत के मुंह में जाने से बचा लिया गया ।हालांकि तीन माह में चार लोगों की मौत हो गई। इस मामले में पुलिस एसडीओपी रोहित लखारे का
कहना है कि जहर सेवन करने वालों की बढ़ती संख्या ने सोचने पर मजबूर कर दिया है। इस विषय पर कदम उठाने को लेकर विचार कर रहे हैं। खिलवाड़ कर रहे झोलाछाप: खमारपानी में झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। ये सभी बीमारियों का इलाज करने को तैयार हो जाते हैं। मरीज की हालत बिगड़ती है तो उससे आनन फानन में जिला अस्पताल भेज दिया जाता है। लोगों का आरोप है कि जानकारी होने के बाद भी प्रशासन इनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करता। ऐसे झोलाछाप डॉक्टर भी हैं जिनकी क्लीनिक में ऑक्सीमीटर तक नहीं रहता है।वे सिर्फ अंदाजा लगाकर दवा दे रहे हैं। कुछ झोलाछाप डॉक्टर दिन रात कमाई में जुटे हैं और मरीजों की जान खतरे में डाल रहे हैं। यही नहीं ये बिना ड्रग लाइसेंस के दवाओं का भंडारण व विक्रय भी कर रहे है। बिछुआ ब्लाक में स्वास्थ्य विभाग ने कई सालों से झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई।
suicide.jpg
People are unable to bear the tension in the villages and towns

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

महंगाई की मार! सरकार के इस फैसले से लगेगा तगड़ा झटका, 1 जून से महंगी हो जाएगी कार-बाइक की खरीदारीबंगाल के राज्यपाल के निशाने पर ममता बनर्जी के भतीजे, कहा - 'अभिषेक बनर्जी ने पार की लक्ष्मण रेखा'Haryana Congress Rally: पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 6 हजार रुपए देंगे वृद्धा पेंशनमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगसुप्रिया सुले पर विवादित टिप्पणी के बाद बीजेपी नेता चंद्रकांत पाटील ने मांगी माफीअरविंद केजरीवाल ने कहा- हरियाणा में लाखों बच्चों का भविष्य अंधकार में, हमें मौका मिला तो बच्चे बनेंगे डॉक्टर-इंजीनियरउज्जैन की गली-गली में घूमे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शादी के कपड़े भी यहीं सिलाए, जानिए बार-बार क्यों आते थे यहांअमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.