छिंदवाड़ा मॉडल रेलवे स्टेशन को है इस सुविधा की सबसे बड़ी दरकार

छिंदवाड़ा मॉडल रेलवे स्टेशन को है इस सुविधा की सबसे बड़ी दरकार
Pitline in Chhindwara Railway Station

Prabha Shankar Giri | Updated: 26 Feb 2019, 11:01:02 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

पिटलाइन की सुविधा होती तो मिलता रैक, भंडारकुंड तक लगते अधिक फेरे

छिंदवाड़ा. मॉडल रेलवे स्टेशन में पिटलाइन की सुविधा न होने से छिंदवाड़ा से भंडारकुंड तक ट्रेन चलाने के लिए न ही हमें रैक मिल पा रहा है और न ही हम पेंचवैली फास्ट पैसेंजर को निर्माण कार्यों के चलते रद्द होने से रोक पा रहे हैं। छिंदवाड़ा रेलवे स्टेशन पर पिटलाइन सुविधा की मांग वर्षों से की जा रही है इसके बावजूद जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। छिंदवाड़ा से भंडारकुंड तक ट्रेन चलाने के लिए सीआरएस के अप्रूवल मिलने के बाद भी लगभग ढाई माह तक इंतजार करना पड़ा। जनवरी 2018 में पेंचवैली फास्ट पैसेंजर को ही 15 बोगियों के साथ छिंदवाड़ा से एक फेरा भंडारकुंड तक चलाने का निर्णय लिया गया। जबकि छिंदवाड़ा से भंडारकुंड तक के लिए कम से कम दिन में दो से तीन फेरों की जरूरत है। स्थानीय लोगों का कहना है कि पांच बोगी की ट्रेन अगर छिंदवाड़ा से भंडारकुंड तक दिन में दो से तीन फेरे ले तो फिर हमें सहूलियत होगी।

एक माह में ही इतवारी से केलोद तक चलने लगी ट्रेन
नागपुर में पिटलाइन की व्यवस्था होने से वहां ट्रेनों का रखरखाव होता है। ऐसे में नागपुर में रैक आसानी से मिल जाता है। इतवारी से केलोद तक ट्रेन चलाने के लिए दपूमरे नागपुर मंडल ने सीआरएस के अप्रूवल मिलते ही एक माह में ही फैसला ले लिया। टाटानगर पैसेंजर का रैक खाली था। इस रैक का ही इस्तेमाल इतवारी से केलोद तक दो फेरे लगाने में किया जा रहा है। दूसरी तरफ छिंदवाड़ा से इटारसी तक किसी भी स्टेशन में पिटलाइन की व्यवस्था नहीं है। इटारसी रेलवे स्टेशन में ट्रेन की इतनी संख्या है कि वहां कोई और रैक रखरखाव के लिए रखा ही नहीं जा सकता।

ट्रेन करनी पड़ती है रद्द
बीते दिनों छिंदवाड़ा मॉडल रेलवे स्टेशन में पिटलाइन की व्यवस्था न होने से पेंचवैली फास्ट पैसेंजर को 12 दिन के लिए रद्द कर दिया गया था। अगर जल्द ही यहां पिटलाइन नहीं बनीं तो भविष्य में भी ऐसी स्थिति निर्मित होगी। दूसरी तरफ पिटलाइन न होने से छिंदवाड़ा से भंडारकुंड तक के लिए रैक का मिलना भी मुश्किल है। ऐसे में यहां ट्रेन के फेरे भी नहीं बढ़ाए जा सकते।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned