Plan: मतदान केन्द्रों पर चलाया जाएगा विशेष अभियान, यह है वजह

निर्देश सेंस के पार्टनर विभागों को दिया गया है।

By: ashish mishra

Published: 03 Dec 2020, 03:30 PM IST


छिंदवाड़ा. कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सौरभ कुमार सुमन द्वारा लिए गए निर्देशों के परिपालन में स्थानीय निर्वाचन वर्ष 2020-21 के अंतर्गत नगरीय निकायों एवं त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन के अंतर्गत मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक करने और सेंस गतिविधियों के लिए गतिविधि केलेन्डर जारी किया गया है एवं इन गतिविधियों के क्रियान्वयन के निर्देश सेंस के पार्टनर विभागों को दिया गया है। गतिविधियों के अंतर्गत महाविद्यालयों और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में निबंध, वाद-विवाद प्रतियोगिता और युवा संवाद कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिला शिक्षा केन्द्र के जिला परियोजना समन्वयक एवं सहायक नोडल अधिकारी सेंस स्थानीय निर्वाचन जीएल साहू ने बताया कि विगत चुनावों में कम मतदान प्रतिशत वाले मतदान केन्द्रों में नुक्कड़ नाटक, गीत आदि के माध्यम से विशेष जागरुकता अभियान चलाया जाएगा। निकायों एवं पंचायतों के प्रत्येक वार्ड में ईवीएम का प्रदर्शन कर मतदाताओं को जानकारी प्रदान की जाएगी। मतदाता जागरुकता के लिए स्कूल, कॉलेजों में रंगोली, मेंहदी, लोकगीत, लोकनृत्य, भाषण, चित्रकला, स्लोगन, लेखन प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हंै। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा अपील की गई है कि सभी स्वयंसेवी संस्थाएं, समाज के गैर राजनैतिक व्यक्ति, व्यापारी वर्ग, स्व-सहायता समूह, कैम्पस एम्बेसेडर, सिविल सोसायटी संगठन, रोटरी क्लब, कालोनाइजर, सांस्कृतिक संस्थाएं, मेला समितियां, उत्सव समितियां आदि उनकी गतिविधियों के साथ मतदाता जागरुकता अभियान में अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करें। उन्होंने नोडल अधिकारी सेंस को निर्देश दिए हैं कि स्थानीय स्तर पर निजी क्षेत्र के प्रतिष्ठित व्यवसायी, डॉक्टर, इंजीनियर, वरिष्ठ नागरिक आदि को आमंत्रित कर ईवीएम और निर्वाचन के महत्व की जानकारी मतदाता जागरुकता के लिए प्रदान करें। उन्होंने बताया कि विगत विधानसभा एवं लोकसभा निर्वाचन में स्वीप गतिविधियों के कारण छिंदवाड़ा जिला मतदान प्रतिशत में प्रदेश में प्रथम स्थान पर रहा है।
----

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned