Earth Day : ‘प्रकृति से प्रेम ही पर्याप्त नहीं इसे संरक्षित भी करें’

पृथ्वी दिवस पर कई जगह रोपे गए पौधे

By: Rajendra Sharma

Published: 23 Apr 2020, 05:07 PM IST

छिंदवाड़ा/ 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया गया। लॉकडाउन के कारण सामूहिक कार्यक्रम तो नहीं हुए, लेकिन स्वयंसेवी और पर्यावरण से जुड़ी संस्थाओं ने अपने-अपने स्तर पर पौधरोपण किया। नवांकुर संस्था कुकड़ा ग्राम उत्थान समिति और राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, दानियलसन कॉलेज के संयुक्त तत्वावधान में कई जगह पौधरोपण के साथ शपथ के कार्यक्रम भी वीडियो कॉलिंग के जरिए हुए। श्रीकृष्ण पुरम में श्यामल राव ने पौधे रोपे। उन्होंने कहा कि इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य पृथ्वी को संरक्षित रखना है। हम इस दिन सिर्फ पौधे ही नहीं रोपे बल्कि उसके साथ धरती को संरक्षित रखने का संकल्प भी लें और उसके लिए काम करें।
डीडीसी कॉलेज की प्राचार्य प्रो. स्मृति हाबिल ने पृथ्वी दिवस पर एनएसएस के सेवादारों से कहा कि वे अपने घर-आंगन और बगीचों में पौधे रोपें एवं छतों पर पक्षियों के लिए दाना-पानी रखें। समाजसेवी कल्याण सिंह रघुवंशी ने कहा कि पृथ्वी दिवस के कार्यक्रमों का प्रचार-प्रसार वीडियो कॉलिंग और सोशल मीडिया के जरिए किया। आमजन भी धरती को बचाने के लिए आगे आए। संस्था की कार्यकर्ता लक्ष्मी राव, लहरी राव, श्रेया रघुवंशी, प्रदीप नागेश, कुंडलीखुर्द में आकाश पाटिल, सुरेंद्र पाटिल, अंबामाली के गोपाल नायक भी पौधे रोपे।

Show More
Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned