फौज की ट्रेनिंग का गलत इस्तेमाल, गला काटकर पत्थरों से कुचल दिया सिर

फौज की ट्रेनिंग का गलत इस्तेमाल, गला काटकर पत्थरों से कुचल दिया सिर
Police press conference

Prabha Shankar Giri | Updated: 04 Jun 2019, 08:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

युवती बना रही थी शादी का दवाब, बीते छह माह से थे दोनों के बीच सम्बंध

छिंदवाड़ा. सांवरी चौकी क्षेत्र के ग्राम गुबरेल निवासी 22 वर्षीय रागिनी वस्त्राणे की हत्या का सोमवार को पुलिस ने खुलासा किया। आरोपी को एक दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है। मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हुआ ही निकला। कत्ल करने वाला आरोपित फौज में ट्रेड विभाग में सिपाही के पद पर पदस्थ है। रागिनी वस्त्राणे प्रेमी पर शादी के लिए बार-बार दबाव बना रही थी जिसके चलते उसने कत्ल कर दिया।
पुलिस लाइन कंट्रोल रूम में प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी मनोज कुमार राय और एएसपी शशांक गर्ग ने बताया कि 30 मई को रागिनी घर से परासिया डॉक्टर के पास जाने का कहकर निकली थी। मोबाइल पर वह देहात थाना क्षेत्र के ग्राम गुरैयादेव निवासी लखनलाल डेहरिया के सम्पर्क में थी। 31 मई की सुबह युवती का शव सांवरी-गुबरेल मेन रोड पर बाबा मुसलमान के खेत के समीप नाली में अर्धनग्न हालत में मिला था।
अंधे हत्याकाण्ड की गुत्थी सुलझाने के लिए लावाघोघरी थाना और सांवरी चौकी पुलिस की एक टीम बनाई गई, जिसने साइबर सेल से तकनीकी मदद ली और आरोपित तक पहुंची। लखनलाल डेहरिया को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने 30 मई की दोपहर करीब 1.30 बजे नरसला के आगे टेकडी पर जमुना गोंड के खेत के पास पेड़ के नीचे झाडिय़ों में ले जाकर उसका गला चाकू से काटा और सिर पर पत्थर पटक दिया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। शव को सफेद रंग की बोरी में भरकर झाडिय़ों में छिपाकर चला गया।

बाइक से लेकर गया शव
एएसपी शशांक गर्ग ने बताया कि 30 मई की रात को आरोपित लखनलाल डेहरिया अपनी बाइक से शव को लेकर गुबरेल मेन रोड पर पहुंचा और शव फेंकने के बाद वहां से घर चला गया। आरोपित के कब्जे से वारदात के दिन पहने कपड़े, हत्या में इस्तेमाल चाकू, पत्थर और बाइक जब्त की गई है। पूछताछ में उसने बताया कि युवती उस पर शादी के लिए बार-बार दबाव बना रही थी जिसके चलते हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच करीब छह माह से संबंध थे। अभी मृतिका का मोबाइल बरामद नहीं हुआ है जिसके चलते आरोपित को एक दिन की रिमांड पर लिया गया है।
दस हजार का इनाम था घोषित
एसपी मनोज कुमार राय ने बताया कि आरोपित की पतासाजी के लिए 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। अंधे हत्याकाण्ड के खुलासे में टीम की अहम भूमिका रही जिसमें एसडीओपी राकेश कुमार, लावाघोघरी थाना निरीक्षक कौशल सूर्या, निरीक्षक मनीषराज सिंह भदौरिया, उपनिरीक्षक मोहनीश बैस, आरक्षक प्रकाश, भगवान सिंह, सैनिक रावजी नेमचंद, मारोति एवं साइबर सेल छिंदवाड़ा से आरक्षक आदित्य रघुवंशी और नितिन सिंह शामिल हैं। सभी को नकद इनाम देने की घोषणा की है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned