Pistol: थाना से गायब हुई पिस्टल ढूंढने में पुलिसकर्मी नाकाम

थाना के मालखाने में रखी पिस्टल सहित अन्य सामग्री की गिनती हुई थी, तब पिस्टल मालखाने में ही थीं।

By: babanrao pathe

Published: 14 Jun 2020, 02:14 PM IST

छिंदवाड़ा. माहुलझिर थाना के मालखाने में रखी एक पिस्टल गायब हो गर्ई। सात जून को पुलिस अधिकारियों तक बात पहुंची तो थाना में पदस्थ प्रधान आरक्षक और होमगार्ड सैनिक के खिलाफ अमानत में खयानत का मामला दर्ज किया। पुलिस की पूछताछ जारी है, लेकिन अभी तक पिस्टल नहीं मिल पाई।

थाना के मालखाने में रखी पिस्टल सहित अन्य सामग्री की गिनती हुई थी, तब पिस्टल मालखाने में ही थीं। मालखाने का प्रभार प्रधान आरक्षक संतराव वाइकर और उसके सहयोग होमगार्ड सैनिक जगनू के पास है। प्रधान आरक्षक संतराव का माहुलझिर थाना से चौकी कन्हरगांव थाना उमरेठ स्थानांतरण हो चुका। मालखाने का प्रभार थाना में पदस्थ अन्य पुलिसकर्मी को देकर कार्यमुक्त हो रहे थे, जिसके चलते मालखाने के सभी सामान की गिनती हुई तो एक पिस्टल कम पाई गई। तलाश करने के बाद भी नहीं मिली तब सात जून को मामला वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में लाया गया। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर प्रधान आरक्षक संतराव वाइकर और होमगार्ड सैनिक जगनू के खिलाफ अमानत में खयानत सहित अन्य धारा में प्रकरण दर्ज किया गया है।

प्रधान आरक्षक और सैनिक के बीच अनबन
सात से अब तक की जांच और छानबीन में पुलिस के हाथ कई अहम तथ्य लगे हैं, लेकिन पिस्टल नहीं मिल पाई। एक बात सामने आई है, कि प्रधान आरक्षक और सैनिक के बीच कुछ समय से अनबन चल रही थीं। बताया जा रहा है कि पिस्टल में कारतूस भी नहीं है, इसलिए पुलिस थोड़ी राहत महसूस कर रही है, लेकिन अपने ही थाना और मालखाना के अंदर से पिस्टल गायब होने के बाद उसे हासिल करने में जो समय लग रहा है उससे यह साबित हो रहा है कि पुलिस के लिए बड़ा मुश्किल काम हो चुका है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही मामला सुलझा लिया जाएगा।

पूछताछ जारी है
पिस्टल अभी नहीं मिली है, प्रधान आरक्षक और होमगार्ड सैनिक से पूछताछ जारी है। दोनों के बीच किसी बात को लेकर अनबन होना सामने आया है।

-विवेक अग्रवाल, एसपी, छिंदवाड़ा

Show More
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned