इस शहर में ‘मतदान’ बना पहेली, एडीएम बोलीं-मेरे पास नहीं आई रिपोर्ट

इस शहर में ‘मतदान’ बना पहेली, एडीएम बोलीं-मेरे पास नहीं आई रिपोर्ट
Polling' puzzle in cm city

Prabha Shankar Giri | Updated: 05 May 2019, 11:14:38 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

लोकसभा व विधानसभा चुनाव की वोटिंग के छठवें दिन भी निर्वाचन कार्यालय में नहीं आए आंकड़े

छिंदवाड़ा. लोकसभा के साथ हुए विधानसभा उपचुनाव में 29 अप्रैल को हुई वोटिंग के बूथवार आंकड़े पहेली बन गए हैं। आश्चर्य की बात यह है कि छह दिन बीतने के बाद सहायक रिटर्निंग ऑफिसर्स ने अपनी फाइनल रिपोर्ट जिला निर्वाचन कार्यालय को नहीं भेजी है। इसके चलते अधिकारी-कर्मचारी इसे सार्वजनिक नहीं कर पा रहे हैं। जबकि पड़ोसी जबलपुर लोकसभा क्षेत्र के अधिकारियों ने तत्परता के साथ बूथवार मतदान प्रतिशत के आंकड़े दो दिन पहले ही जारी कर दिए हैं। इससे छिंदवाड़ा की प्रशासनिक कार्यशैली पर ही सवाल उठने लगे हैं।
बता दें कि छिंदवाड़ा में लोकसभा के साथ विधानसभा उपचुनाव हुए हैं। यहां के चुनाव पर पूरे की देश की नजर बनी हुई है। छिंदवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद मैदान में थे तो वहीं उनके पुत्र नकुलनाथ ने भी लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमाई थी। जिन पर जनता का फैसला 23 मई तक इवीएम में बंद हो चुका है। मतदान के बाद प्रारम्भिक विधानसभावार मतदान प्रतिशत तुरंत सार्वजनिक कर दिए गए। इसके बाद लोगों में बूथवार मतदान प्रतिशत का इंतजार बना हुआ है।
लोग जानना चाहते हैं कि किस क्षेत्र में ज्यादा वोटिंग और कहां कम वोटिंग हुई। राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं में भी इसकी उत्सुकता है। बूथवार मतदान प्रतिशत जानने के लिए लोग निर्वाचन कार्यालय में पहुंचकर प्रयास कर रहे हैं। वरिष्ठ अधिकारियों से भी सम्ंपर्क किया जा चुका है। फिर भी उसे सार्वजनिक नहीं किया गया है। अब तो यह कहा जा रहा है कि प्रशासन कहीं न कहीं किसी के दबाव में है। इस पहेली पर कहीं न कहीं संदेह की सुई भी घूम रही है।

सुविधा पोर्टल में बंद रिपोर्ट, दस्तखत से नहीं भेजी
जिला निर्वाचन कार्यालय के अनुसार हर विधानसभा क्षेत्र में एसडीएम स्तर के अधिकारियों को सहायक रिटर्निंग ऑफिसर बनाया गया है। इन अधिकारियों ने बूथवार मतदान प्रतिशत की एक रिपोर्ट अपने लॉगिन से सुविधा पोर्टल में डाल दी है। इसका पासवर्ड खुद उनके पास है। निर्वाचन कार्यालय के अधिकारी-कर्मचारियों के पास उन्हें अपनी फाइनल रिपोर्ट दस्तखत सहित भेजनी थी। उसे छह दिन बाद भी नहीं भेजा गया है। इससे निर्वाचन कार्यालय के कर्मचारी भी हैरान-परेशान हैं। वे भी किसी को कोई जवाब नहीं दे पा रहे हैं।

एडीएम बोली-मेरे पास नहीं आई एआरओ रिपोर्ट
इस सम्बंध में उपजिला निर्वाचन अधिकारी कविता बाटला से सम्पर्क किया गया तो उनका कहना पड़ा कि सहायक रिटर्निंग ऑफिसर्स ने अभी तक अपनी रिपोर्ट दस्तखत समेत उनके पास नहीं भेजी है। जैसे ही आएगी तो उसे सार्वजनिक किया जाएगा। इस सम्बंध में जिला निर्वाचन अधिकारी कलेक्टर डॉ. श्राीनिवास शर्मा का ध्यान दिलाया गया तो वे बोले कि केंद्रवार मतदान प्रतिशत रिपोर्ट सुविधा पोर्टल में हैं। फिर भी हम उसे दिखवा कर सार्वजनिक कर देंगे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned