Positive Story: मौतों के बीच से खींच लाई जिंदगी, हिम्मत को सलाम

भोपाल की बुजुर्ग महिला ने साधारण इलाज से दी कोरोना को मात

By: prabha shankar

Published: 03 May 2021, 10:51 AM IST

छिंदवाड़ा। भोपाल की रहने वाली एक 80 वर्षीय की बुजुर्ग महिला ने जिला अस्पताल में आठ दिन भर्ती रहकर सिर्फ साधारण इलाज व हिम्मत के दम पर कोरोना को मात दी। इलाज के समय न सिटी स्कैन कराई और ना ही आरटीपीसीआर टेस्ट और स्पेशल इंजेक्शन लिया।
भोपाल निवासी दुर्गा बाई सोनी विगत पांच माह से छिंदवाड़ा के घर में रह रहीं थीं। आठ दिवस पहले इनका ऑक्सीजन लेवल 65 हो गया और उसी दिन घर पर चैक करने आए डॉक्टर ने जल्द से जल्द उन्हें आइसीयू में रैफर करने को कहा। परंतु सभी अस्पताल भरे होने के कारण उनके लिए जिला अस्पताल में सिर्फ ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था हो सकी। सिर्फ ऑक्सीजन और अपनी हिम्मत के दम पर एंटीबायोटिक टेबलेट और एंटी बायोटिक इंजेक्शन तथा भाप लेने पर आठ दिन में ऑक्सीजन 95 के लेवल पर आ गया और अस्पताल से छुट्टी मिली।
अब वे पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं। बुजुर्ग के सामने बहुत सी मौत हुईं परंतु उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और डरी नहीं लड़ती रहीं। आखिरकार ये कोरोना की जंग जीती।

कोविड कंट्रोल रूम: 59 मामलों का निराकरण
विगत 24 घंटे में जिला कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर द्वारा होम आइसोलेटेड 241 मरीजों से बात कर फॉलोअप लिया गया और उनके स्वास्थ्य की अपडेट जानकारी प्राप्त की। साथ ही हेल्पलाइन 1075 पर प्राप्त 59 प्रकरणों का भी निराकरण किया गया।

इ-संजीवनी ओपीडी का 27 मरीजों ने उठाया लाभ
जिलेवासियों को अब घर बैठे इ-संजीवनी ओपीडी की सुविधा ऑनलाइन मिल रही है। रविवार दो मई को शाम छह बजे तक 27 मरीजों को इ-संजीवनी ओपीडी के माध्यम से चिकित्सकीय परामर्श दिया गया। इसका नोडल अधिकारी डॉ.अनुपम जैन को बनाया गया है। यह सुविधा 24 घंटे नागरिकों के लिए उपलब्ध रहेगी, जिसके लिए इ- संजीवनी ओपीडी में चार शिफ्ट में डॉक्टर्स और स्टाफ की ड्यूटी लगाई गई है।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned