झमाझम बारिश से मानसून की सुगबुगाहट

झमाझम बारिश से मानसून की सुगबुगाहट
Pre-monsoon rain

Prabha Shankar Giri | Updated: 08 Jun 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

बावजूद इसके पारा चढ़ता ही दिखेगा और तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही रहेगा

छिंदवाड़ा. लगातार झुलसाती गर्मी से आखिरकार शुक्रवार रात को राहत मिल ही गई। करीब 15 मिनट की झमाझम बारिश ने मौसम में ठंडक घोल दी। वहीं अंचल के भी कई हिस्सों में बारिश होने की खबर है। हालांकि बारिश के साथ चली आंधी और तूफान में कुछ स्थानों से नुकसान की भी जानकारी है। इस बारिश को प्री मानसून कह सकते हैं। मानसून के लिए अब भी करीब एक पखवाड़ा इंतजार करना होगा।
मौसम विभाग ने शनिवार-रविवार तक मानसून के केरल के तट पर आने की बात कही है। ऐसा यदि होता है तो जिले में मानसून के बादलों को आते-आते कम से कम 15 दिन लगेंगे। अधिकतम सापेक्षित आद्र्रता 45 से 55 प्रतिशत रहने के कारण बादल और हल्की बूंदाबांदी भी हो सकती है, लेकिन बावजूद इसके पारा चढ़ता ही दिखेगा और तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही रहेगा। मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों का पूर्वानुमान बताया है उसके अनुसार दोपहर को लू भी चलेगी और हवा की गति 17 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी।
मौसम विभाग के अनुसार पिछले एक सप्ताह का तापमान 44 डिग्री दर्ज किया गया तथा गर्म हवाओं ने लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। लोग आवश्यक काम होने पर ही घर से बाहर शरीर को ढककर निकलते है। हालात यह है कि रात में लोगों को राहत महशूस नहीं हो रही है तथा सबसे अधिक छोटे बच्चों की दिक्कत बनी हुई है।

तेज हवा के कारण फैले बादल
शुक्रवार को दोपहर तीन बजे के साथ कुछ समय के लिए अचानक मौसम बदला और तेज हवाएं चलने लगीं। इसी के साथ आसमान में बादल भी छा गए। ऐसा लगा कि तेज
बूंदाबांदी हो सकती है, लेकिन कुछ ही देर में हवा अपने साथ आए बादलों को ले गई और मौसम फिर साफ हो गया।

प्री मानसून की गतिविधियां नदारद
मानूसन के पहले ठंडी हवाओं के साथ तेज बूंदाबांदी इसके आगमन को बताती है। प्री मानसून की बारिश तेज गर्मी से कुछ निजात दिलाती है, लेकिन इस बार तो जिले में प्री मानसून की गतिविधियां भी नदारद दिखीं। मौसम सूचना केंद्र के नोडल अधिकारी डॉ. वीके पराडकर ने बताया कि लगभग डेढ़ दशक पहले भी ऐसे हालात बने थे, उस समय जिले में मानसून की गतिविधियां 18 जून के बाद शुरू हुईं थीं। इस बार हालांकि मानसून हफ्ते भर देरी से आने का अनुमान पहले ही लगाया गया था, लेकिन प्री मानसून की हलचल बिल्कुल नहीं होगी यह नहीं पता चला।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned