जिले में बिना मान्यता चल रहे प्राइवेट स्कूल, प्रशासनिक अधिकारी बेखबर

छिंदवाड़ा/चौरई/ चौरई विकासखंड में बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने का खेल खुलेआम चल रहा है कुछ दिन पहले ही यहां यश मेमोरियल के संचालक ने दसवीं के 45 बच्चों का भविष्य खतरे में डाल दिया था और अब दूसरी तरफ चौरई क्षेत्र के ही ग्राम कुंडा में बिना मान्यता के प्राइवेट स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों का भविष्य खतरे में नजर आ रहा है।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 07 Mar 2020, 04:46 PM IST

छिंदवाड़ा/चौरई/ चौरई विकासखंड में बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने का खेल खुलेआम चल रहा है कुछ दिन पहले ही यहां यश मेमोरियल के संचालक ने दसवीं के 45 बच्चों का भविष्य खतरे में डाल दिया था और अब दूसरी तरफ चौरई क्षेत्र के ही ग्राम कुंडा में बिना मान्यता के प्राइवेट स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों का भविष्य खतरे में नजर आ रहा है।
खास बात है कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों को बिना मान्यता स्कूलों के संचालन की जानकारी तक नहीं है। ग्राम कुंडा में मुख्य मार्ग पर ही दो स्कूल ऑक्सफोर्ड एकेडमी स्कूल और ग्रीन वल्र्ड स्कूल बगैर मान्यता के संचालित हो रहे हैं। दोनों स्कूल संचालकों ने शासन से बिना मान्यता प्राप्त किए नर्सरी से आठवीं तक के एडमिशन ले लिए हैं। पूरा सत्र खत्म होने वाला है लेकिन मान्यता नहीं मिल पाई। बिना मान्यता आठवीं तक के बच्चों का एडमिशन लेकर स्कूल का संचालन चल रहा है ऐसे में यहां पढऩे वाले 80 से अधिक बच्चों की पोर्टल पर मैपिंग समेत अन्य शासकीय प्रक्रिया कैसे पूर्ण हो पाएगी इसकी चिंता लोगों को सता रही है । इस मामले में तत्कालीन बीआरसी लखनलाल पवार की भूमिका भी संदेह के दायरे में हैं बच्चों के भविष्य से जुड़े इस महत्वपूर्ण मामले पर क्या विभाग के अधिकारी कुछ जानते नहीं हैं या फिर जानबूझकर अनजान बन रहे हैं ये तो जांच का विषय है। दसवीं के छात्रों का एक बार मामला बिगड़ा तो सीएम कार्यालय के हस्तक्षेप से बात बन गई पर अब क्या क्षेत्र में ये खेल ऐसे ही चलता रहेगा ये भविष्य के लिए चिंता का विषय है।
चौरई बीआरसी कार्यालय से मान्यता प्राप्त स्कूलों की सूची लेने पर पता चला कि विकासखंड में कुल 64 स्कूल शासन से मान्यता प्राप्त हैं और इस सूची से आक्सफोर्ड एकेडमी स्कूल और ग्रीन वल्र्ड स्कूल कुंडा का नाम मान्यता प्राप्त स्कूलों की सूची में दर्ज नहीं है।
इस मामले पर ग्रीन वल्र्ड स्कूल के संचालक आकाश मालवी और आक्सफोर्ड एकेडमी स्कूल के संचालक खेलनसिंग वर्मा ने कहा है कि मान्यता प्राप्त करने के लिए आवेदन कर दिया है पर मान्यता नहीं मिल पाई है। बीआरसी कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार आक्सफोर्ड एकेडमी के संचालक ने मोबाइल एप के माध्यम से आवेदन किया है और स्कूल को मान्यता नवीन सत्र से ही मिलेगी। ऐसे में वर्तमान सत्र में पढऩे वाले बच्चों का क्या होगा ये सोचनीय विषय है ।
कुएं के बाजू में हो रहा स्कूल का संचालन : कुंडा का आक्सफोर्ड एकेडमी स्कूल जिस भवन में संचालित हो रहा है उसी भवन के ठीक बाजू में गहरा कुंआ भी है स्कूल में पढऩे वाले बच्चों के साथ खेल-खेल में किसी दिन यहां कोई बड़ी घटना घट सकती है। संचालक बिना मान्यता के स्कूल में सिर्फ फीस वसूल रहे हैं बच्चों की सुरक्षा से इन्हें कोई लेना देना नहीं है।
स्कूल के सामने से बीआरसी रोज निकलते हैं

हर्रई से चौरई तक रोज अपडाउन करने वाले चौरई बीआरसी मुकेश श्रीवास्तव रोजाना ही अपने
वाहन से अमरवाड़ा मार्ग के ग्राम कुंडा के मुख्यमार्ग में संचालित आक्सफोर्ड एकेडमी स्कूल और
ग्रीन वल्र्ड स्कूल के सामने से गुजरते हैं इसके बावजूद भी बीआरसी की नजर इन बिना मान्यता वाले स्कूलों पर नहीं पड़ी। कुंडा के समीप ही चौरई विधायक का गृहग्राम है इस कारण अक्सर यहां शिक्षा विभाग एवं प्रशासनिक अधिकारी आते हैं परंतु किसी भी अधिकारी का ध्यान इन स्कूलों की ओर नहीं गया है।

चौरई विकासखंड में 64 स्कूलों को मान्यता मिली हुई है इसके अलावा अगर कोई स्कूल संचालित हो रहा है तो संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
मुकेश श्रीवास्तव,
बीआरसी, चौरई
अगर बिना मान्यता स्कूल चल रहे हैं तो ये बच्चों के भविष्य से जुड़ा गम्भीर मामला है। इस पर ठोस कार्यवाही
होगी और डीईओ से जवाब लिया जाएगा ।
राजेश शाही, बीआरसी, अतिरिक्त कलेक्टर

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned