Public Hearing: लगने लगी जलसंकट से राहत की गुहार, लोगों ने कलेक्टर को सुनाई आपबीती

बीजाढाना से कुम्हड़ीखेड़ा तक सडक़ पर घाट होने से नहीं मिल पाता पानी

By: prabha shankar

Published: 17 Mar 2021, 10:38 AM IST

छिंदवाड़ा। जनपद पंचायत तामिया के अंतर्गत ग्राम पंचायत चोपना के अधीन सुदुर सडक़ निर्माण कार्य में बीजाढ़ाना से कुम्हड़ीखेड़ा तक घाट सेक्शन अधिक होने के कारण परेशानी आ रही है। इसे देखते हुए ग्रामीणों ने कलेक्टर जनसुनवाई में पहुंचकर मशीन से खुदाई करवाने की अनुमति मांगी।
ग्रामीणों ने शिकायत में कहा कि ग्राम झिरपानी से बीजाढ़ाना, कुम्हड़ीखेड़ा तक सुदुर सडक़ स्वीकृत हुई है जिसमें सडक़ निर्माण में कठोर मुरम व पत्थर होने से मजदूरों से कार्य नहीं हो पा रहा है। मशीन से खुदाई और घाट कटिंग का कार्य मशीन द्वारा अच्छे से हो रहा है, लेकिन किसी कारणवश मशीन बंद हो गई है। इस ग्राम में पानी की समस्या अधिक है जिस पर पीएचई विभाग द्वारा प्रति वर्ष नए बोर स्वीकृत किए जाते है किंतु घाट अधिक होने के कारण बोर मशीन ग्राम तक नहीं पहुंच पाती है जिससे पानी की समस्या बनी है। ग्राम पंचायत द्वारा ग्रीष्मकालीन समय में पेयजल परिवहन के लिए टेंकर घाट के कारण नहीं जाता है। यह सडक़ बनने पर ही ग्रामीणों की समस्या का समाधान हो पाएगा।

कोविड का टीका पंजीयन में अभद्र व्यवहार
पेंशनर्स एसोसिएशन के कार्यवाहक अध्यक्ष मीर जाहिद अली ने जिला अस्पताल में वरिष्ठ नागरिकों के साथ कोविड का टीका का पंजीयन लगाने के दौरान अभद्र व्यवहार करने की शिकायत कलेक्टर से की। उन्होंने बताया कि पंजीयन कक्ष में बैठे डॉक्टर द्वारा पंजीयन की बजाय मोबाइल पर बातचीत की जा रही थी। जब हमने विरोध किया तो उन्होंने सुरक्षा गार्ड से कहकर बाहर निकलवा दिया।

अस्पताल में नहीं किया इलाज,
बाहर निकाला
चांद तहसील के अंतर्गत ग्राम परसगांव सर्रा निवासी अंतराम चौरे और लालू चौरे ने जिला अस्पताल में इलाज न होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अस्पताल में समुचित इलाज न करते हुए दो दिन में बाहर निकाल दिया, जबकि दोनों को चोटे आई थी। इसके चलते उन्हें प्राइवेट में इलाज कराना पड़ा।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned