scriptPublic issue: न शिक्षा, न स्वास्थ्य, शहर को जोडऩे वाली बस सुविधा भी गायब | Patrika News
छिंदवाड़ा

Public issue: न शिक्षा, न स्वास्थ्य, शहर को जोडऩे वाली बस सुविधा भी गायब

– दो कमरों का आवास देकर छीन ली शहर की सारी सुविधाएं
– सोनपुर-किफायती आवास रहवासियों में नाराजगी

छिंदवाड़ाJul 08, 2024 / 12:04 pm

prabha shankar

Sonpur- Affordable housing residents

Sonpur- Affordable housing residents

पहले भले ही किराए के मकान में रहते थे, लेकिन वे सभी सुविधाएं मुहैया थी, जिनके लिए आज सोनपुर किफायती आवास से शहर आना पड़ रहा है। वर्तमान में दो-ढाई हजार रुपए घर का किराया बच रहा है, लेकिन इससे अधिक राशि सोनपुर से शहर तक आवागमन में ही खर्च हो जा रही है। साथ ही परेशानी अलग उठानी पड़ रही है। यह कहना है सोनपुर में किफायती आवास के रहवासियों का। सात सालों में सोनपुर के सभी आवास पूरी तरह आबाद इसीलिए नहीं हो पाए हैं क्योंकि यहां बसाने वालों को शिक्षा, स्वास्थ्य, पार्क, स्वच्छता, मनोरंजन, हाट बाजार और सुरक्षा कभी नहीं मिल सकी। इसके विपरीत शहर से जोडऩे वाली पांच रुपए वाली किफायती बस भी छीन ली। लोगों ने बताया कि आज अच्छी पढ़ाई के लिए और अच्छे इलाज के लिए 10 किमी दूर शहर ही जाना पड़ता है। रात हो जाए तो सामान्य से 10 गुना किराया देकर अस्पताल या स्टेशन की दौड़ पूरी हो पाती है। रहवासियों की मांग है कि अब तो सभी व्यवस्थाएं शहर की तरह यहां भी मुहैया हो जाएं।

क्या कहते हैं रहवासी

पीएम आवास के नाम पर शहर से 10 किलोमीटर दूर सोनपुर, में बसा तो दिया गया है, लेकिन यहां स्वास्थ्य सेवा नाम की नहीं है। यदि कोई अचानक बीमार हो जाए तो स्वास्थ्य सुविधा मिलने में एक-दो घंटे लग जाएंगे।
– सिम्मी कौर
इलाज के लिए कम से कम एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र होना चाहिए। यदि किसी को खरोंच भी आ जाए तो हमें शहर लेकर भागना पड़ता है, वह भी महंगी परिवहन की सुविधा लेकर। निगम की बस पहले ही बंद हो गई।
– भोजराज वर्मा
यहां के रहवासी रात में सुकून की नींद नहीं ले पाते। ऐसा लगता है कि यदि रात में किसी अपने को कुछ हो गया तो कैसे मदद मिलेगी।स्वास्थ्य सुविधाएं होंऔर रात में चिकित्सक की ड्यूटी लगे।
– रूपेश बुंदेले
अस्पताल नहीं है। पढ़ाई के लिए शहर जाना पड़ता है। सुबह 10:30 बजे एक बस चलती थी, उसे भी बंद कर दिया। मल्टी बिल्डिंगों के पीछेगंदगी और इमलीखेड़ा सडकक़े गड्ढे बहुत परेशान करते हैं।
– श्रीराम बंदेवार

सर्दी-खांसी और मामूली बुखार तक की जांच की व्यवस्था नहीं है। ऐसा लगता है कि शहर के बाहर बसा दिया गया है, जहां बस संचालकों को भी बस चलाने में पसीना आ रहा है। रहवासी बेहद परेशान हैं।
– रघुवीर बंदेवार

सूत्र सेवा की किफायती बस की सुविधा फिर मिले तो कम से कम आधा किराया तो बचेगा। हम सभी की आय कम थी, तभी सोनपुर में रहने पहुंच गए नहीं तो कहीं शहर में ही मकान लेते। सस्ते इलाज की व्यवस्था जरूरी है।
– मनीष चौधरी

Hindi News/ Chhindwara / Public issue: न शिक्षा, न स्वास्थ्य, शहर को जोडऩे वाली बस सुविधा भी गायब

ट्रेंडिंग वीडियो