scriptPurchase of only 20 quintals of paddy in a week | एक सप्ताह में मात्र 20 क्विंटल धान की खरीद | Patrika News

एक सप्ताह में मात्र 20 क्विंटल धान की खरीद

प्रदेश सरकार ने किसानों से धान खरीदी तो शुरू कर दी है, लेकिन पंजाकरण से लेकर भुगतान में समस्या की वजह से किसान मायूस है। इसी वजह से एक केन्द्र पर सप्ताह भर बाद भी मात्र २० क्विंटल धान की खरीद हो सकी है।

छिंदवाड़ा

Published: December 07, 2021 05:26:00 pm

छिन्दवाड़ा/अमरवाड़ा. प्रदेश सरकार ने किसानों से धान खरीदी तो शुरू कर दी है, लेकिन पंजाकरण से लेकर भुगतान में समस्या की वजह से किसान मायूस है। इसी वजह से एक केन्द्र पर सप्ताह भर बाद भी मात्र २० क्विंटल धान की खरीद हो सकी है। विधानसभा क्षेत्र में सेवा सहकारी समिति अमरवाड़ा, विपणन मार्केटिंग सोसायटी अमरवाड़ा व सेवा सहकारी समिति हर्रई में कृषकों की मांग पर खरीदी केंद्र खोले गए हैं। तीनों केंद्रों पर लगभग 2 हजार 400 कृषकों ने पंजीकरण कराया है। पंजीयन के दौरान केवाईसी ,एसएमएस के लिए समग्र आईडी, आधार , बैंक पासबुक, पावती, खसरा किश्तबंदी, मोबाइल नंबर मांगा जा रहा है। जिनका आधार लिंक होगा या फि र पंजीयन आधार कार्ड में एक ही मोबाइल नंबर दर्ज होगा उन्हीं किसानों के खाते में भुगतान मिलेगा। अभी भोपाल से किसानों के पास एसएमएस नहीं पहुंच रहे हैं इससे किसान परेशान हैं। वे सहकारी समिति, बैंक व अन्य कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं। कई किसान अपने आधार कार्ड को अपडेट कराने पहुंच रहे हैं ऐसी स्थिति में करीब एक सप्ताह बाद मात्र 20 क्विंटल खरीदी एक केंद्र पर हुई है। किसान संघ के पदाधिकारियों ने शासन से नियमों को शिथिल करने की मांग की है।बड़चिचोली से ढाना जाने वाले मार्ग पर गड्ढे होने लगे हैं । यहां से वाहनों की आवाजाही ज्यादा हो रही है। कुछ दिनों पूर्व डोल पुलिया क्षतिग्रस्त हो गई थी। अभी तक इसकी सुध लेने किसी विभाग का अधिकारी नहीं आया है। छोटे -बड़े वाहन ढाना मार्ग से बायपास होते हुए पांढुर्ना रोड पर जा रहे है ।इसी मार्ग से बड़े लोडिंग वाहन गुजरते हैं । कई बार बिजली के तार भी टूट जाते है ।लाइट गुल हो जाती है। बिजली कर्मचारी भी परेशान होते हैं ।ग्राम के निवासियों ने कहा कि जल्द से जल्द यहां पुलिया का निर्माण शुरू कराया जाए। साथ ही ढाना रोड के गड्ढों को भरा जाए। जिससे लोगों को आने जाने में दिक्कत नहीं हो।
khrid_kendra.jpg
Purchase of only 20 quintals of paddy in a week

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.