Railway: स्टाफ की तैनाती के बाद छिंदवाड़ा से इतवारी तक दौड़ेगी मालगाड़ी

अप्रूवल लेटर में स्पष्ट किया गया है

By: ashish mishra

Published: 25 Sep 2020, 12:49 PM IST

छिंदवाड़ा. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर मंडल के अंतर्गत छिंदवाड़ा से नागपुर रेल परियोजना का अंतिम खंड भंडारकुंड से भिमालगोंदी रेलमार्ग के कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी(सीआरएस) के निरीक्षण एवं अप्रूवल के लगभग एक माह बाद भी छिंदवाड़ा से इतवारी तक मालगाड़ी का परिचालन शुरु नहीं हो पाया है। इसके पीछे कई वजह सामने आ रही हैं। रेलवे अधिकारियों के अनुसार अभी छिंदवाड़ा से इतवारी के बीच विभिन्न रेलवे स्टेशन, मानव सहित क्रांसिंग में स्टाफ की तैनाती नहीं हुई है। इसके अलावा भंडारकुंड से भिमालगोंदी के बीच सीआरएस द्वारा बताए गए कुछ अधूरे कार्य भी बारिश के वजह से पूरे नहीं हुए हैं। जब तक कार्य पूरे नहीं हो जाते और स्टाफ की तैनाती नहीं हो जाती तब तक मालगाड़ी का परिचालन मुश्किल है। गौरतलब है कि बीते 22 अगस्त को सीआरएस ने भंडारकुंड से भिमालगोंदी रेलमार्ग का निरीक्षण किया था। इस घाट सेक्शन में ब्रिज पर कुछ तकनीकी खामियों के कारण उन्होंने चार माह तक मालगाड़ी के परिचालन का ही अप्रूवल दिया है। सीआरएस द्वारा भेजे गए अप्रूवल लेटर में स्पष्ट किया गया है कि मालगाड़ी के परिचालन के दौरान रेलवे ओपन लाइन एवं गेज कन्वर्जन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को इस सेक्शन में मानिटरिंग भी करनी है। सबकुछ ठीक रहा तो दोनों ही विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के एनओसी से यात्री ट्रेन का परिचालन हो सकेगा।

पांच साल से हो रहा ट्रेन सुविधा का इंतजार
छिंदवाड़ा एवं आसपास के क्षेत्रों में रह रहे लोगों को लगभग पांच वर्ष से छिंदवाड़ा से नागपुर तक ट्रेन सुविधा की दरकार है। बता दें कि १ दिसंबर २०१५ को छिंदवाड़ा से नागपुर आमान परिवर्तन परियोजना के लिए छोटी रेल लाइन पर टे्रन का परिचालन बंद कर दिया गया। रेलवे निर्माण विभाग द्वारा छिंदवाड़ा से नागपुर तक (149 किमी रेलमार्ग)गेज कन्वर्जन के कार्यों को कुल चार खंड में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया। पहला खंड छिंदवाड़ा से भंडारकुंड तक, दूसरा खंड इतवारी से केलोद, तीसरा खंड केलोद से भिमालगोंदी एवं चौथा खंड भिमालगोंदी से भंडारकुंड तक है। तीन खंड में सीआरएस के अप्रूवल के बाद यात्री ट्रेन का परिचालन किया जा रहा है। हालांकि चौथे खंड में चार माह तक मालगाड़ी के परिचालन के बाद ही यात्री ट्रेन चल सकेगी।

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned