Railway: सीआरएस से पहले छिंदवाड़ा-नागपुर रेलमार्ग पर दौड़ेगी मालगाड़ी

परिवहन को लेकर रेलवे की अहमितता बढ़ गई है।

By: ashish mishra

Published: 20 Jul 2020, 01:57 PM IST

छिंदवाड़ा. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर मंडल जल्द ही छिंदवाड़ा से नागपुर रेलमार्ग पर मालगाडिय़ों का परिचालन कर सकता है। बताया जाता है कि कोरोना काल में सामानों के परिवहन को लेकर रेलवे की अहमितता बढ़ गई है। बड़ी मात्रा में रेलमार्ग के रास्ते मालगाड़ी से सामानों का परिवहन एक राज्य से दूसरे राज्य किया जा रहा है। इससे रेलवे को फायदा तो हो ही रहा है साथ ही विभिन्न राज्यों में सामानों की आवश्यकता की पूर्ति भी हो रही है। छिंदवाड़ा से नागपुर तक रेलमार्ग का कार्य मई माह में पूरा होने के बावजूद भी उपयोग नहीं हो पा रहा है। कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी(सीआरएस) द्वारा छिंदवाड़ा से नागपुर रेलमार्ग पर बने चौथे और आखिरी खंड भंडारकुंड से भिमालगोंदी कुल 20 किमी रेलमार्ग(घाट सेक्शन) के निरीक्षण को लेकर भी तिथि जारी नहीं की जा रही है। सीआरएस का जुलाई माह में शेड्यूल भी बिजी है। बताया जाता है कि कोरोना काल में आवश्यकता को देखते हुए रेलवे छिंदवाड़ा से नागपुर रेलमार्ग का उपयोग मालगाड़ी के परिचालन में कर सकता है।

नहीं है कोई अड़चन
रेलवे से जुड़ें जानकारों की मानें तो छिंदवाड़ा से नागपुर रेलमार्ग पर मालगाड़ी का परिचालन संभव है। इसमें तकनीकी रूप से कोई अड़चन नहीं है। इसके पीछे वजह यह है कि छिंदवाड़ा से नागपुर रेलमार्ग के सभी स्टेशनों के इंटरलॉकिंग का सीआरएस हो चुका है, जिसमें भंडारकुंड और भिमालगोंदी स्टेशन भी शामिल है। छिंदवाड़ा से नागपुर रेलमार्ग पर जोनल स्तर पर रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारी के देखरेख में गुड्स ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। हां यह जरूर है कि इस रेलमार्ग पर पैसेंजर ट्रेन नहीं चलाई जा सकती। इसके लिए सीआरएस का अप्रूवल मिलना जरूरी है।


इनका कहना है...
ट्रायल के तौर पर छिंदवाड़ा से नागपुर रेलमार्ग पर मालगाड़ी का परिचालन किया जा सकता है।
एके सिंह, डीईएन नॉर्थ, दपूमरे

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned