Railway: नियमित ट्रेनों के निरस्त होने से पड़ा यह असर, हर दिन बढ़ रही संख्या

रेलवे स्टेशन में रिफंड लेने वालों की संख्या बढ़ रही है।

By: ashish mishra

Updated: 30 Jun 2020, 12:03 PM IST


छिंदवाड़ा. कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए रेलवे ने 30 जुलाई की जगह अब 12 अगस्त तक नियमित ट्रेनों को रद्द रखने का फैसला लिया है। ऐसे में मॉडल रेलवे स्टेशन में रिफंड लेने वालों की संख्या बढ़ रही है। बीते तीन दिनों की स्थिति देखें तो 27 जून को 11 टिकट कैंसिल हुए। रेलवे ने कुल 8 हजार 670 रुपए रिफंड किए। इसी तरह 28 जून को 21 टिकट कैंसिल हुए और 29 हजार 705 रुपए वापस किए गए। सोमवार को रिफंड लेने वालों की संख्या और बढ़ गई। रेलवे प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार 32 लोगों ने टिकट कैंसिल कराया। इन्हें कुल 73 हजार 515 रुपए रिफंड किए गए। गौरतलब है कि 22 मार्च से नियमिति ट्रेनों का परिचालन बंद है। हालांकि मई माह में मजदूरों की घर वापसी के लिए स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। स्पेशल ट्रेनों में रिजर्वेशन के लिए 22 मई से छिंदवाड़ा मॉडल रेलवे स्टेशन का रिजर्वेशन काउंटर भी खोला गया है। काउंटर से रिजर्वेशन के साथ ही कैंसिल ट्रेनों में रिजर्वेशन कराने वाले लोगों को टिकट कैंसिल कराने पर रिफंड भी दिया जा रहा है।

नागपुर से अब तक 25 लाख रुपए मंगाए
रिजर्वेशन काउंटर खोले जाने के बाद अधिकतर भीड़ रिफंड लेने वालों की देखी गई। रेलवे स्टेशन प्रबंधन के पास पैसों की कमी की वजह से कुछ दिन अव्यवस्था की भी स्थिति बनी। प्रबंधन को नागपुर कार्यालय से पैसे मंगाकर यात्रियों को रिफंड देना पड़ा। प्रबंधन अब तक नागपुर कार्यालय से 25 लाख रुपए मंगा चुका है।


इनका कहना है...
नियमिति ट्रेनों के 12 अगस्त तक रद्द होने से रिफंड लेने वालों की संख्या दो दिन में बढ़ी है। रिफंड देने के लिए अब तक नागपुर कार्यालय से 25 लाख रुपए मंगाए जा चुके हैं। इसमें 19 लाख 10 हजार रुपए खर्च हो चुके हैं। प्रबंधन के पास रिफंड देने के लिए वर्तमान में पैसे प्रर्याप्त हैं।
संतोष श्रीवास, स्टेशन प्रबंधक, छिंदवाड़ा

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned