दो वर्षों से जुलाई में बारिश बना रही ये रेकॉर्ड

मौसम: जरूरत हो तब बरसे तो खेती के लिए लाभदायक

By: prabha shankar

Published: 20 Jul 2018, 08:00 AM IST

छिंदवाड़ा. प्रदेश के दूसरे जिलों में मानसून की झमाझम बारिश जिस तरह हो रही है उस तरह की जिले में अभी नहीं हुई है। बोवनी के हिसाब से ये सही भी है कि जब जरूरत हो तब पानी बरसे। मौजूदा बारिश का आंकड़ा देखकर विभाग और किसान तो संतुष्ट नजर आ रहे हैं, लेकिन पिछले तीन साल का आंकड़ा देखें तो जुलाई के महीने मेें बारिश कम हुई है।
पिछले साल की अपेक्षा हालांकि 90 मिमी औसत बारिश ज्यादा दर्ज की गई है लेकिन 2016 में जुलाई की 19 तारीख तक 535 मिमी पानी गिर चुका था। संतोषजनक बात ये है कि पूर्वानुमानों से उलट मानसून आठ दस दिन देरी से जिले में आया है। इस हिसाब से वर्षा की स्थिति फिलहाल ठीक-ठाक मानी जा सकती है। खेतों की फसलों को समय-समय पर पानी की जरूरत होती है और जिले में छोटे रकबे के किसान प्राकृतिक वर्षा पर ही निर्भर रहते हैं। एेसे में जब जरूरत हो तब लम्बी खेंच न बने तो किसानों के चेहरे पर रंगत दिख सकती है।
इस बार चौरई, छिदंवाड़ा और मोहखेड़ में पिछले दो सालों के मुकाबले पानी ज्यादा गिरा है। हर्रई में इसके उलट हुआ है।
2016 से यहां बारिश का आंकड़ा कम होता जा रहा है। सौंसर में पिछले साल से 300 मिमी ज्यादा बारिश हुई है जो पूरे जिले में पिछले साल से किसी तहसील में सबसे ज्यादा बारिश है। चांद में भी गत वर्ष से 200 मिमी ज्यादा पानी बरसा है। जिले के वनांचल तामिया और अमरवाड़ा में भी इस बार अच्छी बारिश के कारण किसानों के चेहरे खिले हुए हैं। आंकड़ों के हिसाब से देखें तो इस बार छह तहसीलों में औसत बारिश ५०० मिमी से ज्यादा हुई है।
पिछले वर्ष एक भी तहसील यह आंकड़ा नहीं छू पाया था। 2016 में बारिश बेहद अच्छी हुई थी और जुलाई तक तो 13 में से 7 तहसीलों में 600 मिमी वर्षा दर्ज हो गई थी। जुन्नारदेव में सबसे ज्यादा 780 मिमी पानी बरसा था।

तहसीलवार आंकड़े (मिमी में)
तहसील 2016 2017 2018
छिंदवाडा 476.3 350.6 451.9
मोहखेड 398.6 455.8 529.4
तामिया 651 392.0 438.0
अमरवाड़ा 633 328.0 447.5
चौरई 467.3 468.2 502.0
हर्रई 613.3 272.9 252.2
सौंसर 565.7 227.9 532.4
पांढुर्ना 419.8 373.1 512.7
बिछुआ 636.2 413.8 600.1
परासिया 607.5 447.5 238.8
जुन्नारदेव 778.4 360.2 434.6
चांद 673.9 344.4 566.0
उमरेठ 596.1 254.3 390.0

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned