राशन लेने सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई जा रही धज्जियां

वैश्विक कोरोना महामारी के दौरान लगाए गए लॉकडाउन की वजह से गरीब ग्रामीणों के सामने रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया था जिसे देखते हुए शासन के निर्देशानुसार गरीब ग्रामीणों को जून माह के खाद्यान्न का वितरण किया जाना था।

छिंदवाड़ा/गुढ़ी अम्बाड़ा/ वैश्विक कोरोना महामारी के दौरान लगाए गए लॉकडाउन की वजह से गरीब ग्रामीणों के सामने रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया था जिसे देखते हुए शासन के निर्देशानुसार गरीब ग्रामीणों को जून माह के खाद्यान्न का वितरण किया जाना था। लेकिन सेल्समैन के द्वारा समय पर खाद्यान्न का वितरण नहीं किया गया इसे देखते हुए पत्रिका में खबर का प्रकाशन किया गया जिसे देखते हुए पालाचौरई आदिम जाति सेवा सहकारी समिति से सेल्समैन द्वारा खाद्यान्न का वितरण किया जा
रहा है । 24 एवं 25 जून को राशन का वितरण किया गया।
इस दौरान उपभोक्ताओं की भारी भीड़ खाद्यान्न लेने उमड़ी। जिसकी वजह से सोशल डिस्टेंस एवं लॉकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ती नजर आई। वहीं सेल्समैन की लापरवाही की वजह से उपभोक्ता भीड़ लगाकर खाद्यान्न लेते नजर आए। जिसको लेकर तहसीलदार से शिकायत की गई । तब जाकर प्रशासन के कर्मचारियों को व्यवस्था बनाने में लगाया गया । 24 व 25 जून 2 दिन बांटे गए खाद्यान्न के दौरान कहीं से भी सोशल डिस्टेंस का पालन होता नहीं दिखा। वहीं अधिकतर उपभोक्ताओं के चेहरे पर मास्क भी नहीं लगा हुआ था ।
गौरतलब है कि जून माह का खाद्यान्न माह के आखिरी दिनों में बांटने की वजह से खाद्यान्न लेने वाले बीपीएल कार्डधारियों का हुजूम उमड़ पड़ा। अगर समय पर खाद्यान्न का वितरण कर दिया जाता तो यह स्थिति नहीं बनती लेकिन सेल्समैन द्वारा लापरवाही दर्शाते हुए पीओएस मशीन को अपडेट करने का बहाना बताकर खाद्यान्न वितरण में लेटलतीफी की गई।

Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned