लॉकडाउन में ढील : मजदूरों की सुरक्षा का भी रखा जाएगा पूरा ध्यान

मनरेगा: 21 अप्रैल से काम शुरू होने की उम्मीद, प्रशासन कर रहा है तैयारी

By: Rajendra Sharma

Published: 18 Apr 2020, 05:32 PM IST

छिंदवाड़ा/ कोरोना वायरस महामारी में सभी की सुरक्षा का ध्यान रखा जा रहा है। संक्रमण से राहत मिलने के बाद भी हर वर्ग का ख्याल रखना प्रशासन का उद्देश्य है। इसमें मजदूर वर्ग भी शामिल है। प्रशासन ने इनके लिए योजना तैयार कर उस पर काम भी शुरू कर दिया है।
21 अप्रैल से मनरेगा के काम शुरू किए जाएंगे। काम पर पहुंचने वाले पंजीकृत मजदूरों को वायरस की चपेट में आने से बचाने के लिए अच्छी गुणवत्ता वाले मॉस्क दिए जाएंगे। पंजीकृत मजदूरों की संख्या भी जुटा ली गई है जिसके आधार पर ही कितने मास्क बांटे जाएंगे यह तय किया गया है। इसकी योजना जिला पंचायत में तैयार हो चुकी है। मप्र राज्य आजीविका मिशन के अंतर्गत गठित स्व सहायता समूह के सदस्य ही मास्क तैयार करेंगे। अलग-अलग पंचायतों को मास्क पहुंचाए जाएंगे और वहीं से ही उनका वितरण भी किया जाएगा।
जिला पंचायत सीइओ गजेन्द्र सिंह नागेश ने बताया कि जिलेभर में इस वक्त तीन लाख 33 हजार पंजीकृत मनरेगा के मजदूर हैं। सभी मजदूरों को पहले मास्क दिए जाएंगे इसके बाद ही वे काम पर पहुंचेंगे। सभी मजदूरों के स्वास्थ्य को प्राथमिकता में रखा गया है।

सात लाख मास्क बनाने का लक्ष्य

मप्र राज्य आजीविका मिशन के अंतर्गत सात लाख मास्क बनाने का लक्ष्य रखा है। तीन लाख 33 हजार मास्क केवल मनरेगा के मजदूरों को ही बांट दिए जाएंगे। अन्य मास्क खुले बाजार में बेचे जाएंगे। सभी समूह की महिलाओं को इससे अवगत भी कराया जा चुका है जिसके आधार पर काम भी किया जा रहा।

Show More
Rajendra Sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned