हाईकोर्ट से मिली राहत, अब प्रमोशन का इंतजार

हाईकोर्ट से मिली राहत, अब प्रमोशन का इंतजार
Relief from the High Court, now waiting for the promotion

Prabha Shankar Giri | Updated: 11 Jun 2019, 08:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

कई जिलों में आरक्षकों को पदोन्नत करने के आदेश पुलिस मुख्यालय से हो चुके हैं जारी

छिंदवाड़ा. पदोन्नति के लिए विभागीय परीक्षा पास करने के बाद भी लाभ न मिलने की एक वजह वरिष्ठता रही। जिले के 166 आरक्षक वरिष्ठता के आधार पर प्रधान आरक्षक बन चुके हैं, लेकिन इन्हीं के साथ परीक्षा देने वाले 36 आरक्षकों का प्रमोशन अभी तक अटका हुआ है। पड़ोंसी जिलों में जिन आरक्षकों के साथ ऐसा हुआ था, उन्होंने उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी। न्यायालय से आरक्षकों के पक्ष में निर्णय आने के बाद उन जिलों के आरक्षकों को पदोन्नत करने का आदेश पुलिस मुख्यालय से हो चुके हैं। छिंदवाड़ा में इसे लेकर कोई दस्तावेजी कार्रवाई शुरू नहीं हुई है।
वर्ष 2012 पदोन्नति के लिए आरक्षक से प्रधान आरक्षक वर्ग (अ) की विभागीय परीक्षा आयोजित की गई थी। जिले के 202 आरक्षक इस परीक्षा में शामिल हुए जो पास भी हो गए, लेकिन बाद में वरिष्ठता के आधार पर प्रमोशन देना तय हुआ तो जिले के 166 आरक्षक को इसका लाभ मिला, जबकि 36 आरक्षक इससे वंचित रह गए। ऐसा कई जिलों में भी हुआ था। कुछ जिलों से आरक्षकों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की। हाईकोर्ट से आरक्षकों के पक्ष में निर्णय आया। जिसके बाद पुलिस मुख्यालय से उन आरक्षकों को पदोन्नति देने के आदेश जारी हो चुके हैं। जिले में पदस्थ 36 आरक्षकों को इसका लाभ किस रूप में मिलेगा यह कहना मुश्किल है।

हाईकोर्ट से मिली राहत
उच्च न्यायालय जबलपुर में याचिका क्रमांक 14493/2013 दायर की जिसमें निर्णय 19 फरवरी 2019 को निर्णय आया। पुलिस मुख्यालय के आदेश क्रमांक पुमु / 3 / का/ स-11/1244/2019 दिनांक 15 मार्च 2019 एवं पुलिस अधीक्षक खंडवा के आदेश क्रमांक पुअ/स्थापना /9259-ए/19 दिनांक एक जून 2019 के पालन में जिला खंडवा में वर्ष 2012 में प्रधान आरक्षक पदोन्नति परीक्षा में उत्तीर्ण आरक्षकों पदोन्नति एवं परीक्षा दिनांक से वरिष्ठता प्रदान की गई। इसी तरह जिला देवास में भी वर्ष 2012 में प्रधान आरक्षक पदोन्नति परीक्षा उत्तीर्ण आरक्षकों ने माननीय उच्च न्यायालय खंडपीठ ग्वालियर में याचिका क्रमांक 7583/ 2014 दायर की जिसके निर्णय के पालन में पुलिस महानिरीक्षक उज्जैन के पत्र करमांक/उमनि/ उज्जैन /स्थापना/856-ए/19 दिनांक एक जून 2019 के अनुसार जिला देवास से परीक्षा में उत्तीर्ण आरक्षकों की योग्यता सूची जारी की गई है। इसी तरह मध्य प्रदेश के ग्वालियर एवं अन्य जिलों में भी वर्ष 2010 -12 में प्रधान आरक्षक (अ) वर्ग पदोन्नति परीक्षा में उत्तीर्ण आरक्षकों को पदोन्नति प्रदान की जा चुकी है। सिर्फ छिंदवाड़ा जिले के आरक्षकों को इसका लाभ अभी तक नहीं मिला है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned