Religion: मंगलगान से गूंज रहे जिनालय, हो रही आराधना

विश्व शांति की मंगल कामना की।

By: ashish mishra

Published: 22 Jul 2021, 12:20 PM IST

छिंदवाड़ा. सकल जैन समाज के साथ श्री दिगम्बर जैन मुमुक्षु मण्डल, सर्वोदय अहिंसा एवं अखिल भारतीय जैन युवा फेडरेशन के श्रावक-श्राविकाएं श्री अष्टान्हिका महापर्व की मंगलमय आराधना कर रहे हैं। फेडरेशन सचिव दीपकराज जैन ने बताया कि पर्वराज के पांचवे दिवस बुधवार को श्रावक-श्राविकाओं ने श्री आदिनाथ जिनालय में श्री नन्दीश्वर पंचमेरु विधान एवं श्री पाŸवनाथ जिनालय में श्री समयसार विधान में हिस्सा लेकर धर्माराधना करते हुए जिन शासन की मंगल प्रभावना की। इस अवसर पर सर्वोदय अहिंसा की पवित्र भावना के साथ अखिल भारतीय जैन युवा फेडरेशन के अहिंसा प्रेमियों ने जीव दया के साथ प्राणी मात्र की रक्षा के लिए णमोकार महामंत्र का पाठ रखकर सामूहिक उपवास किया और विश्व शांति की मंगल कामना की। आठ दिनों तक चलने वाले महापर्व अष्टान्हिका पर नगर के समस्त दिगम्बर जिनालय एवं चैत्यालय मंगलगान से गुंजायमान हो रहे हैं। जिनमें सर्वश्री दिगम्बर जैन परवार पंचायत द्वारा श्री आदिनाथ जिनालय संत निवास गोलगंज एवं श्री पाŸवनाथ जिनालय चूना गली बड़ा मंदिर में, मुमुक्षु मण्डल एवं फेडरेशन द्वारा श्री आदिनाथ जिनालय गोलगंज एवं श्री पाŸवनाथ जिनालय नई आबादी में, खण्डेलवाल पंचायत द्वारा श्री आदिनाथ जिनालय ऋषभ नगर, चन्द्रप्रभ जिनालय एवं पाŸवनाथ जिनालय गोलगंज में सहित अन्य जगहों पर धर्म आराधना की जा रही है। उन्होंने बताया कि आषाढ़ शुक्ल अष्टमी से प्रारंभ हुए अष्टान्हिका पर्व की पूर्णता आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा 24 जुलाई को होगी। 25 जुलाई को सकल जैन समाज वर्तमान शासन नायक 1008 तीर्थंकर महावीर स्वामी की प्रथम दिव्य ध्वनि प्रसारण धर्मोपदेश का पावन दिवस श्री वीर शासन जयंती के रूप में मनाकर विशेष पूजन विधान करेगा।

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned