जिम्मेदार पदाधिकारियों से होगी वसूली

राष्ट्रीय कोयला खदान मजदूर संघ इंटक की प्रथम कार्यकारणी बैठक की अध्यक्षता सोहन बाल्मिक विधायक एवं वरिष्ठ कार्यकारी अध्यक्ष द्वारा की गई।

By: SACHIN NARNAWRE

Published: 19 Mar 2020, 05:30 PM IST

परासिया. राष्ट्रीय कोयला खदान मजदूर संघ इंटक की प्रथम कार्यकारणी बैठक की अध्यक्षता सोहन बाल्मिक विधायक एवं वरिष्ठ कार्यकारी अध्यक्ष द्वारा की गई।
सात घंटे तक चली बैठक में महामंत्री केके सिंह ने संगठन में चल रही अनियमितताओं को सदन के समक्ष रखा। कार्याध्यक्ष आर के चिब ने बताया कि गत तीन वर्षों से वेकोलि प्रबंधन इंटक यूनियन को विभिन्न तरीके से कमजोर कर रही है। उच्च न्यायालय का फैसला संघ के पक्ष में आने के बावजूद यूनियन को द्विपक्षीय तथा त्रिपक्षीय समितियों में भाग लेने नहीं दे रही है। तीन वर्ष तक सभी समितियों से दूर रहकर भी सभी क्षेत्रों के इंटक नेताओं ने सदस्यता में पांचों संगठन की तुलना में सर्वाधिक सदस्यता अर्जित की है। बैठक में तय किया गया कि न्यूक्लियस समिति का गठन नियमानुसार निष्पक्ष तरीके से किया जाए। केंद्रीय वित्त समिति का गठन किया जाये ।रीजनल तथा क्षेत्रीय समिति में चुनावी प्रक्रिया उपरांत समिति गठन किया जाए। संघ की आर्थिक स्थिति का विस्तृत लेखा-जोखा कोषाध्यक्ष दीनानाथ यादव ने देते हुए बताया कि संघ की केंद्रीय समिति में वित्त संबंधी बहुत सारी अनियमितताएं कई वर्षों से चलती आ रही है। संघ की आर्थिक स्थिति खस्ताहाल हो गई है। उन्होंने यह बताया कि राष्ट्रीय खान मजदूर फेडरेशन से संघ को तकरीबन 40 लाख रुपया लेना शेष है यह पैसा केवल एक कर्मचारी की पगार तथा फेडरेशन के महासचिव एस क्यू जमा की यात्रा से संबंधित है। अनियमितताओं की वजह से बैंकों में जमा फिक्स डिपॉजिट खत्म हो गये हैं । सदस्यता की काटी हुई राशि न मिलने की वजह से बैंकों में जमा शेष राशि भी तकरीबन खर्च हो गई है और अब केवल 4 लाख बैंक में शेष है जिससे कर्मचारियों की तंख्वाह केवल दो महीने तक दी
जा सकती है। कॉस्ट कंट्रोल समिति के निर्णय अनुसार जिन पदाधिकारियों पर अग्रिम राशि लंबित है उन्हें तुरंत जमा कराने का प्रस्ताव पारित किया गया।

SACHIN NARNAWRE
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned