फर्जी लूट के पेंच में फंसी पुलिस, एसपी ने मांगा जवाब

पुलिस की बड़ी लापरवाही

By: prabha shankar

Published: 07 Jul 2019, 12:05 PM IST

छिंदवाड़ा. बनगांव रिंग रोड स्थित अंकित ढाबा के सामने हुई वारदात के लिए धरमटेकड़ी चौकी पुलिस जिम्मेदार है। पीडि़त पक्ष उसी रात पुलिस के पास पहुंचा और शिकायत दी। पुलिस ने जांच और छानबीन की तो मामला कुछ और ही निकलकर सामने आया। दोनों पक्ष के बीच समझौता होने के बाद नागपुर में रहने वाले लोग चले गए, लेकिन जब उनसे एक लाख रुपए मांगे गए तब उन्होंने थाना पहुंचकर शिकायत दी। दोनों ही पक्ष के लोग इस मामले में दोषी बताए जा रहे हैं। वारदात करने वाले लोग एक संगठन से जुड़े हुए हैं जो गोवंश की तस्करी रोकने के लिए काफी सक्रिय रहते हैं।
अमरवाड़ा से लेकर सिंगोड़ी चौकी क्षेत्र के आगे तक रात में एक गिरोह सक्रिय रहता है जो एक विशेष संगठन का नाम लेकर गोवंश की तस्करी करने वालों को ब्लैकमेल करते हैं। तस्करी करने वाले रुपए देते हैं तो गोवंश से भरे वाहन की सूचना पुलिस को नहीं दी जाती, अगर रुपए नहीं मिले तो गोवंश से भरे वाहन की सूचना पुलिस को देते हैं और आगे होकर वाहन भी पकड़ते हैं। बताया जा रहा है कि एक ट्रक को छोडऩे के एक लाख रुपए से अधिक वसूले जाते हैं। दो जुलाई की रात को हुई वारदात में कुछ इसी तरह के तथ्य सामने आ रहे हैं। वारदात के बाद पुलिस के सामने सबकुछ साफ था इसके बाद भी इस मामले को दबाकर रखा गया। धरमटेकड़ी चौकी में पदस्थ कुछ पुलिसकर्मियों और अधिकारियों के संगठन से जुड़े हुए पदाधिकारियों से काफी करीब है जिसके चलते
तत्काल कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया।

कई लोगों ने देखी वारदात, फिर भी आरोपी अज्ञात
वारदात को ढाबा के सामने अंजाम दिया गया जिसे वहां मौजूद और भी लोगों ने देखा। वारदात करने वाले नागपुर में रहने वालों से रुपए की मांग भी कर रहे हैं जिसकी जानकारी वे पुलिस को भी दे रहे हैं। इसके बाद भी पुलिस के लिए आरोपी अज्ञात ही हैं। अधिकारियों के संज्ञान में भी यह मामला है फिर भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही। पुलिस की लापरवाही के चलते एक फर्जी लूट का मामला दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि इस मामले में दोनों ही पक्ष जिम्मेदार हैं।

&दोपहर में ही इस मामले की जानकारी मुझे मिली है। कुछ लोगों ने बताया कि मामला संदिग्ध है, रविवार को चौकी के स्टॉफ से जवाब तलब किया जाएगा।
-मनोज कुमार राय, एसपी, छिंदवाड़ा

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned