रोगी कल्याण समिति की बैठक महज खानापूर्ति

कुल 22 बिंदुओं पर चर्चा की गई

By: arun garhewal

Published: 08 Dec 2019, 11:49 PM IST

छिंदवाड़ा. सौंसर. स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए बनाई गई रोगी कल्याण समिति महज खानापूर्ति कर सिमट कर रह जाती है। 100 बिस्तर वाले सिविल अस्पताल में शनिवार को हुई रोगी कल्याण समिति की बैठक में भी कुछ इसी तरह का नजारा देखने को मिला।
गौरतलब है कि बीते रोकस की बैठकों में भी वहीं पुराने प्रस्ताव फिर से रोगी कल्याण समिति
की बैठक में रखे गए। इस पर विधायक विजय चौरे ने कहा कि वही प्रस्ताव हर बार नजर आता है। क्या प्रस्तावों की पूर्ति होकर समाधान नहीं होता, यदि संबधित विभाग प्रस्ताव पारित होने पर भी कार्य पूर्ति नहीं करता है तो क्या मतलब है। हाइवे से लेकर अस्पताल तक आने वाली सडक़ का चौड़ीकरण के एक प्रस्ताव को लेकर एसडीएम ओमप्रकाश सनोडिया ने भी कहा कि यदि विभाग कार्य पूर्ण कर सकता है तो हां बोले अन्यथा ना बोले।
शनिवार को कुल 22 बिंदुओं पर चर्चा की गई। जिसमें कई प्रस्ताव ऐसे भी थे, कि पूर्व के रोकस की बैठकों में रखे गए थे। बैठक में विधायक विजय चौरे, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी ओमप्रकाश सनोडिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी छिंदवाड़ा डॉ. शरद बंसोड, खंड चिकित्सा अधिकारी डॉङ लहरपुरे, डॉङ हेमराज बोकड़े, रोगी कल्याण समिति के सदस्य सहित विभागीय प्रमुख आदि उपस्थित रहे।
इन प्रस्तावों पर चर्चा
ये प्रस्ताव रखे : मुख्य सडक़ मार्ग से अस्पताल परिसर पहुच मार्ग का चौड़ीकरण एवं रिपेयरिंग, सोलर सिस्टम एवं बैटरी सुधार, मरीजो के लिए चादर, तकिया, आदि खरेदी, मरीजो के लिये मच्छरदानी एवं फ्रेम, अस्पताल की लगभग 241 खिड़कियों को एल्मुनियम की फ्रेम लगाने, पार्किंग की रिटर्निंग वॉल पर लोहे की पाइप फ्रेम, लोहे के पिल्लर लगाने, अस्पताल के स्ट्रीट लाइट रिपेयरिंग या नई बनाने, मरीजो के उपचार के लिए नई स्टेथोस्कोप 20 नग, बीपी स्टूमेंट 10 नग, आक्सिफलोमिटर 15 नग खरीदी करने, एम्बुलेंस के लिए 1 ड्राइवर की व्यवस्था करने, वाशिंग मशीन में अस्पताल के कपड़े धुलाई सामग्री क्रय करने, अस्पताल में आवश्यकतानुसार ओपीडी इंडोर, निशुल्क ओपीडी पर्ची, वरिष्ठ नागरिक पर्ची, रसीद बुक प्रिंटिंग का कार्य करवाने पर भुगतान करने बाबत, पोषण पुनर्वास केंद्र में कुपोषित भर्ती बच्चों के लिए शुद्ध पानी की व्यवस्था हेतु आरओ सिस्टम लगवाने जैसे बिंदु रहे।

arun garhewal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned