RTE: 360 बच्चे प्रवेश से रह गए वंचित

अंतिम तिथि तक जिले के 92 प्रतिशत बच्चों को मिला प्रवेश

By: prabha shankar

Published: 30 Jul 2021, 10:46 AM IST

छिंदवाड़ा। गरीबों के बच्चों को निजी विद्यालयों में पढ़ाने के लिए शिक्षा के अधिकार के तहत नि:शुल्क प्रवेश दिलवाने में इस बार अधिकारियों को पसीना आ गया। सत्र 2021-22 के लिए नवीन प्रवेश के लिए कुल आवंटित बच्चों में से आठ प्रतिशत से अधिक बच्चों को प्रवेश नहीं मिल पाया। इसमें छिंदवाड़ा ब्लॉक के सबसे अधिक बच्चे शामिल हैं। आंकड़ों के अनुसार छिंदवाड़ा विकासखंड में स्कूलों में प्रवेश के लिए आंवटित बच्चों में से 15 प्रतिशत बच्चे नहीं लिए गए।
उल्लेखनीय है कि बच्चों का आवंटन उनके निवास स्थान के अनुसार नजदीकी स्कूल में किया जाता है। इससे अभिभावकों को स्कूल तक परिवहन में सहूलियत होती है, हालांकि निजी शिक्षण संस्थाओं का मानना है कि ज्यादातर के आवेदन आए ही नहीं। लेकिन कई स्कूलों ने कुल आवंटनों में से एक को भी प्रवेश नहीं दिया, जबकि 28 जुलाई की तिथि के बाद एक दिन का समय और दिया गया था।

इनका कहना है
गुरुवार की शाम तक कुल 92 प्रतिशत बच्चों के प्रवेश हो चुके हैं, अन्य बच्चों के लिए वरिष्ठ कार्यालय से आदेश के बाद निर्णय लिए जा सकेंगे।
संजय दुबे, डीपीसी छिंदवाड़ा

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned